ताज़ा खबर
 

वाइन बनाने के लिए महिला ने ऑनलाइन खरीदा सांप, काटने से खुद मर गई

महिला की मां को शिन्हुआ ने बताया कि उनकी बेटी पारंपरिक औषधीय गुण वाली शराब बनाने की योजना बना रही थी। इस औषधीय शराब को स्नेक वाइन कहा जाता है। चीन में मान्यता है कि इससे कई बीमारियां ठीक हो जाती हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

चीन की रहने वाली एक महिला ने पारंपरिक स्नेक वाइन बनाने के लिए आॅनलाइन शॉपिंग पोर्टल से सांप खरीदा था। लेकिन उसी जहरीले सांप के काटने से महिला की मौत हो गई। ये वाकया चीन के उत्तरी शांक्सी प्रांत में 21 साल की महिला के साथ पिछले मंगलवार को घटित हुआ। चीन की आधिकारिक न्यूज एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक महिला की मौत बैंडेड करैत सांप के द्वारा कई बार काटने के कारण हो गई।

महिला ने ​ये विषैला सांप ई-कॉमर्स कंपनी जुहानजुहान से खरीदा था। ये चीन के बड़ी ई कॉमर्स कंपनियों में से एक है। इस कंपनी का संचालन इंटरनेट क्षेत्र की बड़ी कंपनी टेंसेंट के द्वारा किया जाता है। कंपनी ने सांप को गुआंगदोंग प्रांत के दक्षिण से खरीदा था। जहां तेज जहर वाले सांप बहुतायत से पाए जाते हैं। सांप की डिलीवरी स्थानीय कुरियर कंपनी ने की थी। कुरियर कंपनी के लोगों ने शिन्हुआ को बताया कि उन्हें नहीं पता था कि बॉक्स में क्या है?

मरने वाली महिला की मां को शिन्हुआ ने बताया कि उनकी बेटी पारंपरिक औषधीय गुण वाली शराब बनाने की योजना बना रही थी। इस औषधीय शराब को स्नेक वाइन कहा जाता है। इस वाइन को अल्कोहल के भीतर पूरा सांप डालकर गला देने के बाद बनाया जाता है। इससे बनने वाले मिश्रण के बारे में चीन में मान्यता है कि इससे कई बीमारियां ठीक हो जाती हैं।

कई मीडिया रिपोर्ट में कहा गया कि महिला को काटने के बाद सांप जंगल में भाग गया। लेकिन स्थानीय वनकर्मियों ने शिन्हुआ को बताया कि वह महिला के घर के पास ही बरामद कर लिया गया। चीन में आॅनलाइन प्लेटफॉर्म पर वन्यजीवों का कारोबार करना प्रतिबंधित है। अधिकारी ऐसी किसी भी पोस्ट की सूचना मिलते ही एक्शन लेते हैं।

लेकिन ग्राहक जुहान जुहान जैसे कम लोकप्रिय और छोटे प्लेटफॉर्म की तरफ मुड़ रहे हैं। चीन में ई—कॉमर्स का कारोबार बूम पर है। इस प्लेटफॉर्म के बड़े खिलाड़ियों में अलीबाबा का ताओबाओ भी शामिल है। इस प्लेटफॉर्म पर रोजमर्रा की चीजों से लेकर अजीबो—गरीब चीजें तक मिलती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App