ताज़ा खबर
 

OMG! अपना ‘दिल’ बैग में रखकर जिंदा है यह महिला!

डॉक्टर्स ने 6 घंटे चले हार्ट ट्रांसप्लांट सर्जरी ऑपरेशन के बाद सेल्वा को आर्टिफिशियल हार्ट लगाया, जिन्हें वह बैग में रखती हैं। सेल्वा के इस इलाज में 86,000 पोंड यानी करीब 75 लाख रुपए तक का खर्च आया है।

ब्रिटेन की रहने वाली 39 वर्षीय सेल्वा हुसैन आर्टिफियल हार्ट इस्तेमाल करती हैं।(फोटो सोर्स- यूट्यूब)

ब्रिटेन की रहने वाली 39 वर्षीय सेल्वा हुसैन आर्टिफियल हार्ट इस्तेमाल करती हैं। उनका दिल शरीर के बाहर काम रहा है, जिसे वह एक बैग में अपने साथ रखती हैं। सेल्वा हुसैन की हार्ट ट्रांसप्लांट सर्जरी लंदन के Harefield अस्पताल में हुई है। यहां के डॉक्टर्स ने करीब 6 घंटे चले ऑपरेशन के बाद सेल्वा हुसैन को आर्टिफिशियल हार्ट लगाया गया था। वह इस आर्टिफिशियल हार्ट को एक बैग में कैरी करती हैं।

सेल्वा हुसैन को करीब 6 महीने पहले सांस लेने में काफी दिक्कत हुई। गंभीर हालत में सेल्वा को तुरंत डॉक्टर के पास ले जाना पड़ा, जहां उन्हें डॉक्टर ने सीरियस हार्ट फेलियर की शिकायत के बारे में बताया। बाद में सेल्वा को लंदन के फेमस अस्पताल Harefield में रेफर किया गया। यहां डॉक्टरों ने उन्हें जीवित रखने के लिए काफी मशक्कत की। डॉक्टर्स ने 6 घंटे चले हार्ट ट्रांसप्लांट सर्जरी ऑपरेशन के बाद सेल्वा को आर्टिफिशियल हार्ट लगाया, जिन्हें वह बैग में रखती हैं। सेल्वा के इस इलाज में 86,000 पोंड यानी करीब 75 लाख रुपए तक का खर्च आया है।

सेल्वा जो अपने साथ बैग रखती हैं उसमें दो बैटरी, एक मोटर और एक पंप रखा होता है। मोटर की मदद से यह पंप दो पाइपों के जरिए शरीर के अंदर लगे प्लास्टिक के दो चैबर्स में हवा पहुंचाता है, जो शरीर के सभी हिस्सों में खून पंप करते हैं। इसके अलावा सेल्वा अपने साथ एक और बैग रखती हैं जो बैक-अप यूनिट है।

सेल्वा हुसैन 2 बच्ची की मां हैं, उनका 5 साल का एक बेटा है और 18 महीने की एक बेटी है। सेल्वा कहती हैं, ‘मैं ये सर्जरी होने से पहले और उसके बाद काफी बीमार थी। मुझे ठीक होने में लंबा वक्त लगा।’

बता दें कि सेल्वा हुसैन ऐसी दूसरी शख्स हैं जिन्हें ये आर्टिफिशियल हार्ट लगाया गया है। सेल्वा से पहले साल 2011 में 50 वर्षीय इंग्लैंड के रहने वाले व्यक्ति को आर्टिफिशियल हार्ट लगाया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App