ताज़ा खबर
 

इन चीजों पर जागरूकता फैलाने के लिए अजीब कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेती हैं सुंदरियां

इस प्रतियोगिता में महिलाएं गर्भाधान से बचने के लिए भी जानकारी देती हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक एशिया-पैस‍िफ‍िक क्षेत्र में सात लाख से अधिक लोग एसटीडी संक्रमण से ग्रसित हैं।

Author Updated: November 25, 2017 8:42 PM
म‍िस कॉन्‍डोम कॉन्टेस्ट में जीत दर्ज करने वाली सुंदरी को ‘मिस कंडोम’ का टाइटल दिया जाता है। (Photo: social Media)

सुरक्षित यौन संबंध को बढ़ावा देने और एचआईवी-एड्स (HIV-AIDS) के खतरे के प्रति जागरुकता बढ़ाने के लिए कई देशों की महिलाएं थाईलैंड में एक अजीबो-गरीब प्रतियोगिता में भाग लेती हैं। आपने अब-तक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई प्रतियोगिता और उसका पुरस्कार देखा होगा। लेकिन आपने अभी तक ‘म‍िस कॉन्‍डोम एश‍िया-पैस‍िफ‍िक’ प्रतियोगिता का नाम नहीं सुना होगा। इस प्रतियोगिता में चार देशों की बीस सुंदरियां भाग लेती हैं। प्रतियोगिता का मकसद सुरक्षित यौन संबंध को बढ़ावा देना और एचआईवी-एड्स जैसे गंभीर बीमारी के बारे में जानकारी देना है। इस प्रतियोगिता में कई देशों की महिलाएं कंडोम को फुलाकर उसको उड़ाती हैं और पुरुष समाज को सुरक्षित यौन संबंध के लिए जागरुक करती है।

इस प्रतियोगिता में महिलाएं गर्भाधान से बचने के लिए भी जानकारी देती हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक एशिया-पैस‍िफ‍िक क्षेत्र में सात लाख से अधिक लोग एसटीडी संक्रमण से ग्रसित हैं। इस प्रतियोगिता का सीनेटर मेचे विरवैद्य समर्थन करता है। लगभग पिछले 20 सालों से इस प्रतियोगिता को आयोजित किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता में विजेता को एक हजार बहट दिया जाता है। हालांकि, प्रतियोगी इस प्रतियोगिता में केवल इसलिए भाग नहीं लेते कि उन्हें कोई पुरस्कार मिलेगा। बल्कि इसलिए भाग लेते हैं। क्योंकि उन्हें इस प्रतियोगिता में भाग लेने पर काफी आनंद आता है और एक खुशी मिलती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ये थी जिंदा ड्रैकुला, 600 कुंवारी लड़कियों के खून से नहाने का था शौक
2 नन्ही उम्र से लड़कियों को गले में यहां क्यों पहनाए जाते हैं 10 किलो वजनी छल्ले?
3 नग्न होकर प्रजा से मिलने वाला इस राजा को था प्लेन-कारों का शौक, जानिए कैसे करता था अय्याशी