ताज़ा खबर
 

VIDEO: दुनिया के सबसे खतरनाक रेलवे नेटवर्क, यहां सब्जी मंडी और संकरे रास्तों से होकर जाती है ट्रेन; झूले जैसी ढलान और बगैर छत यात्री करते हैं सफर

क्या आप जानते हैं कि दुनिया में कुछ रेल नेटवर्क ऐसे हैं जहां रेलगाड़ियां और इसके नेटवर्क यात्रियों के लिए सुविधा के साथ दुविधा भी बनते हैं।

देख लो, ये हैं दुनिया के सबसे खतरनाक रेलवे नेटवर्क्स। (फोटो सोर्सः यूट्यूब)

सफर करने के लिए ट्रेन सबसे बेहतरीन जरिया मानी जाती है। आपने और हमने भी या कहीं आने-जाने के लिए इसका सहारा लिया होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में कुछ रेल नेटवर्क ऐसे हैं जहां रेलगाड़ियां और इसके नेटवर्क यात्रियों के लिए सुविधा के साथ दुविधा भी बनते हैं। किसी देश में संकरी गलियों में सब्जी मंडी से होकर रेल गुजरती है, तो कहीं झूले की ढलान जैसी पटरी पर ट्रेन चलती है। इतना ही नहीं, कुछ जगहों पर ऊंचे पुलों पर यात्री बगैर छत वाली ट्रेन में भी सफर करते हैं। इसी से जुड़ा यूट्यूब पर एक वीडियो मौजूद है। 10 मिनट सात सेकेंड के वीडियो में दुनिया के सबसे खतरनाक रेलवे नेटवर्क्स के बारे में बताया गया है।

सब्जी मंडी के बीच से गुजरती है ट्रेनः थाईलैंड में मायकलॉन्ग रेलवे है। यहां सब्जी मंडी और संकरे रास्ते से होकर रेलगाड़ी गुजरती है। जब ट्रेन आने वाली होती है तो दुकानों के आगे रखा सामान हटाया जाता है, ताकि ट्रेन आसानी से गुजर सके। दुकानदारों को इसके अलावा दुकानों के छप्पर और टेंट भी हटाने पड़ते हैं। ट्रेन निकलने के बाद वे दोबारा अपना सामान पटरी के स रखते हैं। यह यहां की यह सबसे धीमी रेल मानी जाती है, जिसकी गति 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार होती है।

थाईलैंड में ट्रेन कुछ इस तरह पतली गलियों से होकर गुजरती है। इस दौरान ट्रेन की रफ्तार तकरीबन 30 किलोमीटर प्रति घंटे की होती है। (फोटो सोर्सः यूट्यूब)

इतनी खतरनाक कि कहते हैं डेविल्स नोजः एक्यूएडर में नारिज डेल ड्याब्लो रेलवे है। खतरनाक रेल रूट होने के कारण इसे डेविल्स नोज़ (Devil’s Nose) भी कहा जाता है। यही नहीं, इस ट्रेन में सफर करना दुनिया का सबसे कठिन रेल सफर माना जाता है। ट्रेन काफी ऊंची-नीची ढलानों से होकर गुजरती है।

एक्यूएडर में नारिज डेल ड्याब्लो रेलवे को बेहद खतरनाक रेल रूट होने के कारण डेविल्स नोज़ कहा जाता है। (फोटो सोर्सः यूट्यूब)

देश भी पीछे नहींः दुनिया की सबसे खतरनाक रेलवे में भारत भी पीछे नहीं है। यहां रामेश्वरम में पंबन पुल से गुजरने वाले रेलरूट को सबसे खतरनाक माना जाता है। साल 1914 में इसे बनाया गया था। यह देश का पहला समुद्री पुल है और यह रामेश्वरम से पंबन द्वीप को जोड़ता है। इसके अलवा देश में तमाम जगहें हैं, जहां यात्री जोखिम भरा सफर करने को मजबूर हैं। आंकड़ों के मुताबिक देश में हर साल तकरीबन 25 हजार लोगों की जान रेल हादसों में जाती है।

सबसे खतरनाक रेलवे नेटवर्क्स में भारत भी पीछे नहीं है। यहां रामेश्वरम में पंबन पुल से गुजरने वाले रेल रूट को सबसे खतरनाक माना जाता है। साल 1914 में इसका निर्माण कराया गया था। (फोटो सोर्सः यूट्यूब)

भेड़-बकरियों की तरह ठेले जाते हैं यात्रीः बांगलादेश रेलवे की ट्रेनों में ठसाठस भीड़ होती है। आलम कुछ ऐसा होता है कि यात्री ट्रेन की छत पर चढ़कर सफर करते हैं। कई मौकों पर लोग भेड़-बकरियों की तरह ठुसे नजर आते हैं। बांग्लादेश में ट्रेन में लदे यात्रियों को ऐसे देखना आम है। हर साल सैकड़ों लोगों की जानें इसी जोखिम भरे सफर के चलते चली जाती हैं।

बांग्लादेश में ट्रेन की छत और दरवाजों के अाजू-बाजू इस तरह सवार होकर सफर करते हैं यात्री। (फोटो सोर्सः यूट्यूब)

म्यांमार रेलवे के बजाय ‘डेथ’ रेलवे कहिएः कुछ रेल रूट इतने खतरनाक हैं कि उन्हें डेथ रेलवे जैसे नाम तक दे दिए गए हैं। यहां म्यांमार (बर्मा) रेलवे को डेथ रेलवे के नाम से भी जाना जाता है। द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इंपीरियल जापानी सेना ने इसे बनाया था। यहां ट्रेन वन क्षेत्र से होकर गुजरती है। म्यांमार में इसके अलावा एक और नेटवर्क भी खतरनाक माना जाता है। वह है गोकटिक व्याडक्ट रेलवे। यहां ऊंचे पुल से होकर ट्रेन निकलती है। नीचे देखने पर सिर्फ जंगल और नदी नजर आते हैं। आजू-बाजू पर्वत और खुला आसमां। 1901 में बनी। किसी जमाने में यह दुनिया में सबसे बड़ा रेल पुल माना जाता था।

म्यांमार में रेलगाड़ी ऊंची पहाड़ियों से होकर निकलती है। रास्ता इतना भयानक होता है कि इसका नाम ही डेथ रेलवे रख दिया गया है। (फोटो सोर्स) यूट्यूब)

तो ये है दुनिया का दूसरा सबसे ऊंचा रेलवेः पेरु में फेरोकैरिल सेंट्रल एंडिनो रेलवे है। यहां पहाड़ी इलाके से होकर ट्रेन गुजरती है। यह दुनिया में दूसरा सबसे ऊंचा रेलवे विभाग है, जो एंडेज़ पर्वतीय श्रृंखला को कवर करता है। इस 332 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन में 61 पुल और 65 टनल हैं।

स्विजरलैंड में ढलान वाली पटरी पर यूं चलती है खुली ट्रेन। (फोटो सोर्सः यूट्यूब)

स्विजरलैंड में चलती है बगैर छत वाली ट्रेनः स्विजरलैंड में पिलाटस रेलवे और गेलमेर्बान फ्यूनिकुलर रेलवे नेटवर्क भी बेहद खतरनाक माने जाते हैं। पिलाटस रेलवे नेटवर्क पर दुनिया में सबसे अधिक ढलान वाली पटरी है। यहां समुद्र स्तर से सात हजार फीट ऊपर स्टेशन है। जबकि गेलमेर्बान फ्यूनिकुलर रूट पर बगैर छत वाली ट्रेन चलती है। कुछ-कुछ यह ट्वॉय ट्रेन जैसी लगती है। आप बेशक इसमें सफर कर खुली वादियों और प्रकृति का आनंद ले सकते हैं, लेकिन इसमें जितना मजा है, उतना ही डर भी लगता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App