ताज़ा खबर
 

क्‍यों काफी तेजी से बढ़ती है चूहों की संख्‍या, जानिए इनकी मेटिंंग से जुड़े कुछ रोचक फैक्‍ट्स

चूहे अपनी उम्र के महज 5 हफ्तों में ही सेक्शुअली मैच्योर हो जाते हैं। इतना ही नहीं चूहे 18 महीनों में 2 लाख से ज्यादा वंशज पैदा कर सकते हैं। चूहे 3 से 4 महीने की उम्र में सेक्स के लायक हो जाते हैं।

एक मादा चूहा एक बार में 13 बच्चों तक को जन्म दे सकती है। फोटो सोर्स – (Indian Express Archive)

दुनिया में कई जगहों पर चूहों की बढ़ती आबादी कई बार लोगों के लिए समस्याएं बनी हैं। दरअसल चूहे कई घातक बीमारियों के वाहक भी माने जाते हैं इसलिए कई बार इन्हें खत्म करने के लिए ठोस कदम भी उठाए गए हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि चूहों की आबादी आखिर इतनी तेजी से क्यों बढ़ती है? इनकी प्रजनन से जुड़े कुछ ऐसे रोचक तथ्य हैं जिन्हें जानकर आप भी चौंक जाएंगे। जीव वैज्ञानिकों का मानना है कि चूहों में प्रजनन बेहद आसान है। चूहे अपनी उम्र के महज 5 हफ्तों में ही सेक्शुअली मैच्योर हो जाते हैं। इतना ही नहीं चूहे 18 महीनों में 2 लाख से ज्यादा वंशज पैदा कर सकते हैं।

चूहों के प्रजनन का कोई निश्चित समय या मौसम नहीं होता। हालांकि बहुत ज्यादा गर्मी या फिर बहुत ज्यादा ठंड वाले तापमान के वक्त प्रजनन में कमी जरूर आती है। मादा चूहा पूरे साल में हर 4-5 दिनों में मेटिंग के लिए तैयार हो जाती है। हालांकि अगर वो प्रेग्नेंट हो तब ऐसा नहीं होता। लेकिन कई बार प्रेग्नेंट होने के बाद भी मादा चूहा एक या दो बार मेटिंग के लिए तैयार हो जाती है। कई अध्ययनों में कहा गया है कि एक चूहा और चूही का जोड़ा साल में करीबन हजार बच्चे पैदा कर सकता है। अगर वैज्ञानिकों की बात मानी जाए तो एक मादा चूहा 2 महीने की उम्र में बच्चे को जन्म दे सकती है और हर तीन हफ्तों में 12 बच्चे पैदा कर सकती है।

गहनों अध्ययनों के बाद यह भी कहा गया है कि एक मादा चूहा 6 घंटों में 500 बार अलग-अलग चूहों से मेटिंग कर सकती है। नर चूहा ओल्ड एज तक मेटिंग कर सकते हैं। बच्चे के जन्म लेने का पूरा प्रॉसेस एक से दो घंटे तक का होता है। मां चूहा हर 5-10 मिनट के अंदर एक नये बच्चे को जन्म देती है। यह एक बार में 13 बच्चों को जन्म दे सकती है। एक चूहे का औसतन जीवनकाल 1 से 2 साल का होता है लेकिन अगर इन्हें पूरी देखभाल मिले तो यह 5 साल तक जी सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App