ताज़ा खबर
 

बंदूक लिए है शख्स यह सोच पुलिस ने चलाई 20 गोलियां, असल में लिए था आईफोन; मौत

यह घटना 18 मार्च की है, जिसकी वीडियो फुटेज बुधवार 21 मार्च को सामने आई। पुलिस ने इस संबंध में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उन्हें लगा था कि शख्स के हाथ में कोई बंदूक जैसी चीज नजर आ रही थी, जिसके बाद उस पर फायरिंग की गई। मृतक अश्वेत था, जिसकी पहचान स्टीफन क्लार्क (22) के रूप में हुई है।
स्टीफन क्लार्क घटना के दौरान घर के पीछे ही थे। (फोटोः Gofundme.com)

अमेरिका के कैलिफोर्निया शहर में पुलिस से बड़ी चूक हो गई। धोखे में पुलिसकर्मियों ने एक बेगुनाह शख्स पर 20 गोलियां चला दीं। यह सोचकर कि उसने हाथ में बंदूक ले रखी थी, जबकि असल में मृतक घटना के दौरान हाथ में आईफोन पकड़े हुए था। यह घटना रविवार (18 मार्च) की है, जिसकी वीडियो फुटेज बुधवार (21 मार्च) को सामने आई। पुलिस ने इस संबंध में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि उन्हें लगा था कि शख्स के हाथ में कोई बंदूक जैसी चीज नजर आ रही थी, जिसके बाद उस पर फायरिंग की गई। मृतक अश्वेत था, जिसकी पहचान स्टीफन क्लार्क (22) के रूप में हुई है। दो पुलिसकर्मियों को वह सैक्रामेंटो के पास दिखा था। पुलिस इस दौरान इमेरजेंसी नंबर पर हादसे की सूचना पर जवाब दे रही थी, जिसमें वाहन की खिड़कियां तोड़ने वाले एक व्यक्ति के बारे में बताया जा रहा था।

सैक्रामेंटो पुलिस विभाग के कर्मियों ने अश्वेत शख्स को देखते ही रुकने के लिए कहा था। वे बोले थे, “हमें अपने हाथ दिखाओ। रुको…।” मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना से जुड़ी क्लिप में क्लार्क दौड़ते हुए नजर आ रहा था। वहीं, एक घर के पास दो पुलिस अफसर उसे धर दबोचने की फिराक में थे।

यह पूरा घटनाक्रम इसी दौरान एक ऊपर से गुजर रहे हेलीकॉप्टर के इन्फ्रारेड कैमरे में कैद हो गया। फुटेज में क्लार्क पुलिस अफसरों की ओर बढ़ता है। दीवार के पीछे से तभी दूसरा पुलिस वाला कहता है, “अपने हाथ ऊपर करो। गन, गन, गन!” पुलिस वाले इसके बाद उस पर तड़ातड़ 20 गोलियां चला देते हैं। फायरिंग भी हेलीकॉप्टर के कैमरे में कैद हो गई थी। लेकिन असल में क्लार्क के हाथ में सफेद रंग का आईफोन था।

पुलिस ने इस बाबत कहा है कि वह मामले की जांच कराएगी। सैक्रामेंट पुलिस का कहना है कि उन्होंने सोचा था कि क्लार्क ही वही शख्स है, जिसकी सूचना उन्हें इमरजेंसी नंबर पर मिली थी। हालांकि, पुलिस अभी भी स्पष्ट नहीं कर पाई है कि क्लार्क संदिग्ध था या पीड़ित।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App