ताज़ा खबर
 

अमेरिका: लगातार रो रहा था 10 दिन का बच्चा मां ने गला घोट कर ले ली जान

शेरिफ क्रिस बॉउमैन के अनुसार नवजात के मुंह और नाक के पास चोट लगी हुई थी। पुलिस ने बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए विकी फोरेस्ट हॉस्पिटल भेज दिया।

Author नई दिल्ली | May 29, 2016 4:21 PM
मारिया पर सेकंड डिग्री मर्डर का चार्ज लगाया गया है। कोर्ट ने इस मामले में वकील भी न्यूक्त किया है। (pic source-twitter)

अमरेकी राज्य उत्तरी केरोलिना में एक मां को उसके ही नवजात की हत्या करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। महिला ने पुलिस को बताया है कि उसने नवजात की जान इसलिए ले ली क्योंकि वो चुप नहीं हो रहा था। 22 वर्षीय एशिया मारिया को जब सुनवाई के लिए कोर्ट लाया गया तब उन्होंने मीडिया से बात करते कहा कि, ” ये एक हादसा था। मैं ऐसा नहीं करना चाहती थी।” वॉशिंगटन पोस्ट के अनुसार मारिया को 20 मई को बेटा हुआ था। जिसका नाम टेलर रखा गया था। बेटे के जन्म के बाद एशिया ने फेसबुक पर लिखा था,” यह बहुत अच्छा है और मैं इससे बहुत प्यार करती हूं। मुझे इसकी मां बनने पर गर्व है।” लेकिन मंगलवार शुबह पुलिस को बच्चे के मौत की खबर मिली।

शेरिफ क्रिस बॉउमैन के अनुसार नवजात के मुंह और नाक के पास चोट लगी हुई थी। पुलिस ने बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए विकी फोरेस्ट हॉस्पिटल भेज दिया। पुलिस के अनुसार बच्चे की मौत सोमवार रात को हो चुकी थी। मां से पूछताछ करने पर उसने पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल लिया। पुलिस के अनुसार, ” मां ने यह स्वीकार कर लिया है कि बच्चे के चुप ना होने पर उसने बच्चे को छाती से लगाकर जोर से दबाया। जिससे उसकी मौत हो गई। हमारे पास कई सारे लोग हैं जो बच्चें चाहते हैं उनके पास बच्चे नहीं हैं। इस तरह का वाक्य सच में बेहद शर्मनाक है। इस मामले की जांच करना सच में बेहद कठिन है।” मारिया पर सेकंड डिग्री मर्डर का चार्ज लगाया गया है। कोर्ट ने इस मामले में वकील भी न्यूक्त किया है।

पड़ोसी सिंडी ने कहा कि, ” हमने पुलिस का साइरन सुना तो मुझे लगा हे भगवान बच्चे को कुछ हो गया है।” एक दूसरी पड़ोसी ग्लेनडा ने कहा कि उन्हें लगता था कि मारिया एक अच्छी मां बनेगी। , ” जिस तरह हॉस्पिटल में मारिया ने अपने बच्चे को गोद में ले रखा था मुझे लगा वो एक अच्छी मां बनेगी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App