Do you know why Beer Bottles are Brown And Green in Colour? Here is the Reason - - Jansatta
ताज़ा खबर
 

भूरे और हरे रंग में ही क्‍यों मिलती हैं बीयर की बोतलें, यह है वजह

अमेरिका हो या रूस, भारत हो या फिर पाकिस्तान। दक्षिण अफ्रीका से लेकर ऑस्ट्रेलिया। वेस्टइंडीज से लेकर संयुक्त अरब अमीरात तक। हर जगह बीयर की बोतलें आज भी अधिकतर इन्हीं दो रंगों में आती हैं। ऐसे में आपने कभी सोचा है कि ये बोतलें हरी-भूरी ही क्यों होती हैं? क्यों बीयर को सफेद या पारदर्शी गिलास में नहीं रखा जाता?

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik/Unsplash)

बीयर विश्व का सबसे पुराना एल्कोहॉलिक पेय पदार्थ है। नशीले पदार्थों में सबसे बड़े स्तर पर इसी का उपभोग होता है। यूं समझिए कि पानी और चाय के बाद लोग सबसे अधिक इसे ही पीते हैं। यानी कि बीयर दुनिया की तीसरी सबसे मशहूर ड्रिंक है। बीयर से जुड़े ये तथ्य शायद आपने पढ़े हों। लेकिन क्या कभी एक महीन चीज पर गौर किया है। वह है- बीयर की बोतल का रंग। आपने देखा होगा कि आमतौर पर बीयर की बोतलें भूरी और हरी ही होती हैं। अमेरिका हो या रूस, भारत हो या फिर पाकिस्तान। दक्षिण अफ्रीका से लेकर ऑस्ट्रेलिया। वेस्टइंडीज से लेकर संयुक्त अरब अमीरात तक। हर जगह बीयर की बोतलें आज भी अधिकतर इन्हीं दो रंगों में आती हैं। ऐसे में आपने कभी सोचा है कि ये बोतलें हरी-भूरी ही क्यों होती हैं? क्यों बीयर को सफेद या पारदर्शी गिलास में नहीं रखा जाता? किस वजह से दुनिया भर के ब्रुअर्स (बीयर निर्माता) बोतलों का रंग तय रखते हैं? अगर यह सवाल सुन कर आप भी अचंभित रह गए हैं, तो इसका जवाब हम देंगे।

कहा जाता है कि प्राचीन मिस्र में हजारों साल पहले सबसे पहली बीयर बनाने वाली कंपनी थी। शुरू में बीयर पारदर्शी बोतलों में सर्व की जाती थी। लेकिन कुछ ब्रुअर्स ने पाया कि बीयर में पड़ा एसिड सूर्य की रोशनी और उसकी अल्ट्रा वॉयलेट रेज (पराबैगनी किरणों) से रिएक्ट कर रहा है। बीयर में इसी रिएक्शन के कारण बदबू आने लगी, जिसके कारण लोग इसमें कम रुचि लेने लगे।

यही समस्या सुलझाने के लिए बीयर निर्माताओं ने आगे एक प्रयोग किया। उन्होंने बीयर के लिए ऐसी बोतलें चुनीं, जिन पर भूरे रंग की कोटिंग (परत) चढ़ी थी। चूंकि भूरा होने से सूर्य की किरणें एसिड से नहीं रिएक्ट कर पाईं, जिससे बीयर अपने असल स्वाद और महक के साथ रखी जा सकी। आगे द्वितीय विश्व युद्ध के वक्त बीयर के लिए हरी बोलतें इस्तेमाल की जाने लगीं। भूरी बोतलों की कमी के कारण बीयर निर्माताओं ने हरी बोतलों को बीयर रखने के लिए चुना।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App