ताज़ा खबर
 
title-bar

खुले में कर रहा था शौच, हाथी ने सूंड़ में लपेटा और 50 मीटर दूर पटक दिया

निरंजन साहिश ने वन अधिकारियों को बताया, 'मुझे लगा कि मैं मरने वाला हूं। मैं भगवान से प्रार्थना कर रहा था। हाथी ने जब मुझे जमीन पर फेंक दिया। मुझे अपनी किस्मत पर यकीन नहीं हो रहा था।'

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एपी फोटो)

पश्चिम बंगाल में एक किसान को खुले में शौच करना खासा महंगा पड़ गया। बुधवार (24 अप्रैल, 2019) को किसान जिस समय खुले में शौच के लिए खेत में पहुंचा वहां गुजर रहा हाथी उसे अपनी सूंड़ में लपेटकर ले गया। खबर के मुताबिक राज्य के पुरुलिया जिले में स्थित किसान को जंगल में तड़पते हुए फेंककर जाने से पहले हाथी करीब पचास मीटर तक उसे सूंड़ में दबाए दौड़ता रहा। जिस जगह घटना घटी वह क्षेत्र बुधवार सुबह चार से बजे वीरान पड़ा है। घटना के बारे में जानकारी देते हुए एक डॉक्टर ने बताया कि वन अधिकारियों के घटनास्थल पर पहुंचे से पहले तक पीड़ित निरंजन साहिश (54) काफी देर तक जमीन पर पड़ रहे।

घटनास्थल पर पहुंचे वन अधिकारी उन्हें प्राथमिक उपचार के लिए प्राइमरी हेल्थ केयर लेकर पहुंचे। शुरुआती उपचार के कुछ देर बाद साहिश को स्थानीय हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया। बाद में होश में आए निरंजन ने वन अधिकारियों को बताया कि हाथी शायद भोजन की तलाश में गांव की तरफ आ गया मगर उन्हें ही उठा लिया। साहिश अन्य दिनों की तरह ही शौच के लिए घाटबेरा गांव से बाहर निकले थे। यह क्षेत्र पुरुलिया के अयोध्या हिल्स के नजदीक में है। पीड़ित के मुताबिक शौच के वक्त उन्होंने महसूस किया कि हाथी उनके करीब आ रहा है मगर जब तक वो कुछ समझ पाते बड़े जानवर ने उन्हें अपनी सूंड़ में लपेट लिया।

निरंजन साहिश ने वन अधिकारियों को बताया, ‘मुझे लगा कि मैं मरने वाला हूं। मैं भगवान से प्रार्थना कर रहा था। हाथी ने जब मुझे जमीन पर फेंक दिया। मुझे अपनी किस्मत पर यकीन नहीं हो रहा था।’ वहीं बलराम फॉरेस्ट जोन के सुबिनॉय पांडा ने बताया गांव के हाथी के आने-जाने के रास्ते पर पड़ता है। हमने ग्रामीणों से कई बार कहा कि वो करीबी जंगल के रास्ते पर जाने से बचे। इसके अलावा जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने भी बताया कि गांव के करीब में जंगल होने के चलते कैंप लगाकर ग्रामीणों के समझाया जाता रहा है कि जंगलों में जाने के बजाय घरों में बने शौचालयों का इस्तेमाल करें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App