ताज़ा खबर
 

यह है रंग बदलने वाला सांप, आपने शायद ही पहले कभी देखा हो

इस प्रजाति का एक सांप हाल ही में झारखंड के जमशेदपुर में पाया गया है।

इस सांप का मुंह काफी हद तक कॉपर कलर का होता है।

आपने सांप की कई प्रजातियां देखी और उनके बारे में सुना होगा। लेकिन क्या आपने कभी रंग बदलने वाला सांप देखा है। इस सांप का नाम Copper Headed Trinket (कॉपर हेडेड ट्रिंकेट) होता है। इस प्रजाति का एक सांप हाल ही में झारखंड के जमशेदपुर में पाया गया है। सांप को जल्द ही झारखंड की राजधानी रांची में स्थित एक चिड़ियाघर में लाया जाएगा। सांप को रांची के ओरमांझी स्थित बिरसा मुंडा जैविक उद्यान में रखा जाएगा। सर्प अधिकारियों ने जानकारी दी कि यह दुर्लभ प्रजाति का सांप है।

इस प्रजाति की खासियत: सांप के पूरे शरीर पर काले रंग की पट्टी होती है, शरीर का रंग लाल-भूरा होता है। सांप का मुंह काफी हद तक कॉपर कलर का होता है। यह आमतौर पर कृन्तकों, पक्षियों, छोटे स्तनधारी, पक्षी, छिपकली और मेंढक को अपना शिकार बनाता है। कई अन्य देशों में इस सांप को खाने के रूप में दवाई के लिए प्रयोग में लाया जाता है।

सांप के पास आने पर या जब इसे खतरा महसूस होता है तो यह अपने अगले हिस्से का फूला लेता है और मुंह को धरातल से ऊपर उठाकर फूंकार मारता है। इस तरह सांप अपना गुस्सा दिखाता है। यह सांप कभी भी अपना रंग बदल लेता है। बड़ी संख्या में लोग इस सांप को पालते भी हैं।

कहां पाया जाता है: यह उत्तरपूर्वी भारत के कई इलाको, हिमालय तलहटी और उत्तराखंड के अलावा बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और आंध्र प्रदेश में भी पाया जाता है।

लंबाई:
जन्म के समय: 25-30 सेमी।
औसत लंबाई: 150 सेमी।
अधिकतम लंबाई: 230 सेमी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App