Congolese Fashion Designer made Dresses from Contraceptives in Central Africa - एड्स के खिलाफ लड़ रही इस डिजाइनर ने निकाला गजब का आइडिया, कंडोम से बना दी ड्रेस - Jansatta
ताज़ा खबर
 

एड्स के खिलाफ लड़ रही इस डिजाइनर ने निकाला गजब का आइडिया, कंडोम से बना दी ड्रेस

लुवुंगू दो सालों से इस तरह के कपड़े बना रही हैं। वह कहती हैं, "मेरे परिवार को यह आइडिया समझने में वक्त लगा था। मगर वे अब मेरे फैंस हैं।"

मध्य अफ्रीका के कॉन्गो लोकतांत्रिक गणराज्य में फेलिसाइट लुवुंगू ने एड्स के खिलाफ अनोखी जंग छेड़ी है। (फोटोः फेसबुक)

सेफ सेक्स को लेकर दुनिया भर में कॉन्फ्रेंस होती हैं। रैलियों और कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है, ताकि उस पर खुल कर चर्चा हो। लोगों के बीच इनके जरिए एचआईवी-एड्स को लेकर जागरूकता फैलाई जाती है। लेकिन एक डिजाइनर ने इस पर जागरूकता के लिए गजब का आइडिया निकाला है। एड्स के खिलाफ उसने अपनी ड्रेसेस को हथियार बनाया है। सबसे खास बात है कि उन्होंने ये ड्रेसेस कंडोम की मदद से बनाई हैं। घर वाले और दोस्त भी इसी वजह से उनके फैन बन गए हैं। मामला मध्य अफ्रीका के कॉन्गो लोकतांत्रिक गणराज्य से जुड़ा है। यहां फेलिसाइट लुवुंगू नाम की फैशन डिजाइनर रहती हैं। उन्होंने ही एड्स के खिलाफ यह अनोखी जंग छेड़ रखी है। हाल ही में उन्होंने कंडोम से बने हुए कपड़ों की रेंज लॉन्च की है। लुवुंगू ने इस बारे में कहा, “मैं सेफ सेक्स को लेकर अपनी ड्रेसेस के जरिए से लोगों को संदेश देना चाहती हूं, जिसमें स्ट्रैपलेस इवनिंग गाउन, टॉप्स और स्कर्ट्स सरीखे कपड़े शामिल हैं।”

संयुक्त राष्ट्र एड्स डाटा के अनुसार, कॉन्गो में एचआईवी की दर सबसे कम है। दक्षिणी और मध्य अफ्रीका में इसी वायरस के कारण लोगों में एड्स की बीमारी फैलती है। हालांकि, यहां गर्भनिरोधक इस्तेमाल करने को लेकर अभी भी लोगों में टैबू है।

फैशन डिजाइनर का कहना है कि उन्होंने यह ड्रेस की रेंज लोगों तक एड्स जैसी बीमारियों को लेकर संदेश पहुंचाने के लिए बनाई हैं। (फोटोः फेसबुक)

ऐसे में लुवुंगू बीते दो सालों से इस तरह के कपड़े बना रही हैं। वह आगे कहती हैं, “मेरे परिवार को यह आइडिया समझने में वक्त लगा था। मगर वे लोग इसे जानने के बाद अब मेरे फैंस बन चुके हैं। मैं अब अपने डिजाइंस को राजधानी किंसहासा में होने वाले फैशन शो में शोकेस करना चाहती हूं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App