Commando Soldiers ate live Cobras and drunk their Blood in front of US General - जिंदा सांपों का सिर तोड़ खा जाते हैं यहां के कमांडो, पी लेते हैं खून - Jansatta
ताज़ा खबर
 

जिंदा सांपों का सिर तोड़ खा जाते हैं यहां के कमांडो, पी लेते हैं खून

भारत के कमांडो सैनिकों के बारे में आपने सुना ही होगा। वे पलक झपकते दुश्मन को निपटा देते हैं। फुर्ती इतनी कि मुश्किल से मुश्किल हालात इनके आगे पस्त हो जाएं, मगर क्या आपने किसी कमांडो को सांप खाते और खून पीते देखा है?

इंडोनेशिया के जकार्ता स्थित सेना के मुख्यालय पर अभ्यास के दौरान कमांडो सैनिक सांप को मार कर खा गया। (फोटोः टि्वटर)

भारत के कमांडो सैनिकों के बारे में आपने सुना ही होगा। वे पलक झपकते दुश्मन को निपटा देते हैं। फुर्ती इतनी कि मुश्किल से मुश्किल हालात इनके आगे पस्त हो जाएं, मगर क्या आपने किसी कमांडो को सांप खाते और खून पीते देखा है? अगर नहीं, तो आपको इंडोनेशिया के कमांडो सैनिकों के बारे में जानना चाहिए। यहां के कमांडो सैनिक पल भर में सांप को पकड़ लेते हैं। वे उनका सिर तोड़कर उन्हें खा जाते हैं और फिर खून पी लेते हैं। बुधवार को यहां पर कुछ ऐसा ही देखने को मिला। जकार्ता में सेना मुख्यालय पर कमांडो सैनिक सैन्य अभ्यास में जुटे हुए थे। हर कोई सैनिकों के इस कारनामे को देखकर हैरत में था। अमेरिका के डिफेंस सेक्रेटरी जनरल जिम मैटिस भी इस दौरान मौजूद थे। वे भी इंडोनेशियाई कमांडो के इस करतब को देख चौंक उठे। अभ्यास के दौरान कमांडो मैदान में थे। काले लिबास में वे जहरीले सांपों को पकड़े हुए थे। अभ्यास में इसी बीच कमांडो उन्हें मारना शुरू करते हैं।

पहले वे सांपों का सिर तोड़ते हैं। फिर उन्हें अपने मुंह का निवाला बनाते हैं। कमांडो इसके बाद उन सांपों का खून भी पी जाते हैं। कमांडोज ने इसके अलावा अभ्यास में कांच के टुकड़ों पर लेट कर दिखाया। वहीं, एक कमांडो ने साथी के सिर पर बंधे गुब्बारे पर पैलेट गन से निशाना लगाकर दिखाया।

सैन्य अभ्यास में एक कमांडो ने साथी के मुंह में रखे खीरे पर निशाना भी लगाया, इस दौरान उसके आंखों पर पट्टी बंधी थी। अच्छी बात यह रही कि इस दौरान किसी भी कमांडो को चोट नहीं आई। अमेरिकी मीडिया में मैड डॉग नाम से मशहूर मैटिस इस बारे में बोले, “ये सांप! क्या आप ने उन्हें तोड़ते हुए देखा और फिर खाते हुए भी? कमांडो जो चीजें सांपों के साथ कर रहे थे, उससे वे पस्त पड़ जा रहे थे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App