ताज़ा खबर
 

OMG!! यहां अजगर के साथ पीते हैं कॉफी और बिच्छू संग करते हैं लंच

इस कैफे में आने वाले लोगों का कहना है कि यह कैफे काफी अलग हैं। यहां रखे गए कुछ जीव काफी खूबसूरत हैं। कैफे चलाने वाली महिला Chea Raty का कहना है कि कई लोग सांप और छिपकली से डरते हैं और कैफे आने से कतराते हैं, लेकिन अब लोग धीरे-धीरे इनके साथ एडजस्ट हो रहे हैं।

कोलंबिया के कैफे में छिपकली के साथ बैठी महिला फोटो सोर्स – (ट्विटर, @suneet30singh)

कंबोडिया के एक कैफ में लोग खतरनाक सांप और बिच्छुओं के साथ बैठकर चाय, कॉफी पीना पसंद करते हैं। इस कैफे में आने पर आपको रेंगने वाले कई जीव देखने को मिल जाएंगे। साथ ही साथ कैफे में आपको मौका मिलेगा अपने ऑर्डर टेबल पर इन जीवों के साथ चाय की चुस्की लगाने का। इस कैफे को चलाने वाली महिला Chea Raty पहले से ही एक कैट कैफे चलाती हैं। कैट कैफे कंबो़डिया में काफी फेमस है और इसकी खासियत यह है कि इस कैफे में आने पर आपको तरह-तरह की बिल्लियों के साथ चाय-कॉफी पीने का मौका मिलता है।

Chea Raty के सांपों पर आधारित इस नए कैफे की भी अब खूब चर्चा हो रही है। अक्सर लोग सांप, बिच्छू और छिपकली जैसे जीवों से नफरत करते हैं और उन्हें खतरनाक मानते हैं। reptile-themed cafe का मकसद लोगों के बीच इन जीवों को लेकर नफरत की धारणा को खत्म करना है। Chea Raty ने अंतरराष्ट्रीय न्यूज एजेंसी Agence France-Press (AFP) से बातचीत करते हुए कहा कि ‘कैफे में आने वाले लोग सापों के साथ चाय की चुस्की लेते हैं यह देखकर मुझे अच्छा लगता है। मैं यह चाहती हूं कि वो लोग भी इन जीवों से उतना ही प्यार करें जितना मैं करती हूं।’

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Ice Blue)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback

इस कैफे में कई तरह के सांप मिल जाएंगे। हालांकि कुछ लोग शुरू में इन सापों के साथ बैठने पर थोड़ा घबराते हैं लेकिन धीरे-धीरे वो उनके साथ एडजस्ट कर जाते हैं। खास बात यह भी है कि कैफे में एंट्री फ्री है। इस कैफे में आने वाले लोगों का कहना है कि यह कैफे काफी अलग हैं। यहां रखे गए कुछ जीव काफी खूबसूरत हैं। कैफे चलाने वाली महिला Chea Raty का कहना है कि कई लोग सांप और छिपकली से डरते हैं और कैफे आने से कतराते हैं, लेकिन अब लोग धीरे-धीरे इनके साथ एडजस्ट हो रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App