ताज़ा खबर
 

लाखों की संख्या में अफ्रीका से गधे इंपोर्ट करता है चीन, हैरान करने वाली है वजह

इस खास काम के लिए चीन को हर साल 4 मिलियन ( 40 लाख) गधों की जरूरत पड़ती है। इस संख्या को पूरा करने के लिए चीन अफ्रीका से गधे इंपोर्ट करता है।
बीवीपी ने गधे को घोषित किया सीएम उम्मीदवार। सांकेतिक तस्वीर। (Reuters)

क्या आपको पता है गधे इंपोर्ट कराने के मामले में चीन सबसे ऊपर है? जी हां, चीन लाखों की संख्या में अफ्रीका से गधे मंगाता है। एक खास काम के लिए चीन को हर साल 4 मिलियन ( 40 लाख) गधों की जरूरत पड़ती है। इस संख्या को पूरा करने के लिए चीन अफ्रीका से गधे इंपोर्ट करता है। अधिकतर इंपोर्ट अफ्रीका के नाइजर और बुर्कीना फासो से होता है। वहीं केन्या और साउथ अफ्रीका भी इसमें शामिल हो रहे हैं।

हालांकि अफ्रीका इस व्यापार से नाखुश है और हो सकता है जल्द ही वह चीन को गधे देना बंद कर दे। गधों की जनसंख्या में आ रही कमी के मद्देनजर, 2016 में 80 हजार गधे इंपोर्ट करने वाले नाइजर ने तो अब इस पर रोक लगा दी है। CNN की रिपोर्ट के मुताबिक चीन में पिछले गधों की जनसंख्या में भी गिरावट हुई है। यहां पिछले 20 सालों में 11 मिलियन गधों से सिर्फ 6 मिलियन ही रह गए हैं।

चीन इसलिए मंगाता है गधे:

दरअसल चीन में गधों की खाल का उपयोग यहां की एक पारंपरिक दवाई Ejiao को बनाने में किया जाता है। ट्रेडिश्नल चाइनीज मेडिसिन (TCM) के नाम से प्रसिद्ध दवाई के लिए खाल से निकलने वाली गिलेटिन (gelatin) का इस्तेमाल होता है। चीन की न्यूज एजेंसी Xinhua News के मुताबिक चीन में हर साल 5 हजार टन Ejiao का निर्माण किया जाता है।

एक यूजर द्वारा ट्वीट की गई दवाई की तस्वीर:

Read Also: सऊदी अरब से लौटे मजदूरों ने सुनाई दास्तां, कहा- ‘नरक से भी बदतर है वहां जिंदगी’

क्या है इस दवाई का इस्तेमाल :

इस दवाई का उपयोग कई बीमारियों में किया जाता है। मुख्यत: उसे सर्दी जुकाम, एनिमिया और अनिद्रा जैसी बीमारियों में लिया जाता है। इसे खासतौर पर महिलाएं यूज करती हैं। इसके अलावा इसे फेस क्रीम और एंटी एजिंग के रूप में भी उपयोग किया जाता है।

वीडियो में देखिए, चीनी कंपनियों द्वारा निर्माण करने के लिए भारत का रुख करने के पर चीन में बेरोज़गारी का खतरा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.