ताज़ा खबर
 

एक्सीडेंट में उड़े कार के परखच्चे, अंदर फंसा दिखा ऊंट तो हैरान रह गए लोग, देखें VIDEO

सोशल मीडिया पर एक कार हादसे का वीडियो वायरल हो रहा है। हादसा इतना भीषण था कि एक विशालकाय ऊंट कार में जा फंसा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जब कार अपनी पूरी रफ्तार पर थी तभी वह ऊंट से जा भिड़ी। हादसे में कार के परखच्चे उड़ गए और ऊंट कार में ही फंस गया। लोगों ने जब ऊंट को कार में फंसा देखा तो वह कौतुहल का केंद्र बन गया।

यूट्यूब वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट।

सोशल मीडिया पर एक कार हादसे का वीडियो वायरल हो रहा है। हादसा इतना भीषण था कि एक विशालकाय ऊंट कार में जा फंसा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जब कार अपनी पूरी रफ्तार पर थी तभी वह ऊंट से जा भिड़ी। हादसे में कार के परखच्चे उड़ गए और ऊंट कार में ही फंस गया। लोगों ने जब ऊंट को कार में फंसा देखा तो वह कौतुहल का केंद्र बन गया। कहा जा रहा है कि इस वीडियो को गलत लोकेशन के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हादसा पश्चिमी एशिया के जॉर्डन का है लेकिन इसे राजस्थान का बताकर फेसबुक, वॉट्सऐप और यूट्यूब आदि सोशल प्लेटफॉर्म्स पर वायरल किया जा रहा है। वीडियो में देखकर पता चलता है कि हादसा रात के वक्त हुआ। कार में फंसा ऊंट छटपटाता और चीखता हुआ दिखाई देता है। वह कार से निकलने की भरसक कोशिश करता है लेकिन इस तरह फंस जाता है कि निकलना मुश्किल नजर आता है।

मौके पर लोगों का हुजूम फंसे हुए ऊंट को निकालने की कोशिश करता भी दिखाई देता है। बता दें कि हाल ही में फेक न्यूज को लेकर सरकार के सजग होने के बाद भी इसका कोई खास असर होता नहीं दिखाई दे रहा है। जिस तरह से इस हादसे की फेक लोकेशन बताई जा रही है, उसी तरह पिछले दिनों के पाकिस्तान के जन जागरूकता अभियान का एक वीडियो भारत के किसी ग्रामीण इलाके का बताकर वायरल किया गया था। वीडियो बच्चा चोरी करने वालों को लेकर था, जिसका खामियाजा देश को लिंचिंग की दो दर्जन से ज्यादा घटनाओं के तौर पर भुगतना पड़ा। 29 संदिग्ध भीड़ की हिंसा की भेंट चढ़ गए।

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने अफवाहों पर लगाम लगाने के वॉट्सऐप के शीर्ष अधिकारियों को पत्र भी लिखा था। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के द्वारा अफवाहों पर अमल न किया जाना चिंता का कारण बना हुआ है। जॉर्डन हादसे का वीडियो राजस्थान का बताकर बदस्तूर वायरल हो रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App