ताज़ा खबर
 

फीमेल पार्टनर समझ बियर की बोतल से बनाते हैं संबंध, ऐसी है इस विचित्र जीव की अजीब दुनिया

दरअसल इस प्रजाति की मादा Insect के डैने खूबसूरत भूरे रंग के होते हैं। समस्या यह है कि चमकदार भूरे रंग के बियर से भरे या खाली बोतलों या ग्लास को अक्सर नर Buprestid beetles गलतफहमी की वजह से अपनी मादा सहयोगी समझ बैठते हैं।

यह जीव बोतलों की रंगों की वजह से आकर्षित होते हैं। फोटो सोर्स – (वीडियो स्क्रीनशॉट, यूट्यूब, Planet Wild)

धरती पर रहने वाले कई जीवों की संरचना और उनकी जीवनशैली कई बार हमें चौंका देती है। कीट-पतंगों की ऐसी ही एक अजीबोगरीब प्रजाति है Buprestid beetles। इन ऑस्ट्रेलियन jewel beetle का वैज्ञानिक नाम Julodimorpha bakewelli है। अध्ययनों से यह पता चला है कि कई बार Buprestid beetles बीयर की बोतलों के साथ संबंध बनाती हैं। जी हां, Buprestid beetles कई बार अपने फीमेल साथी और बियर की बोतलों में फर्क नहीं कर पाती हैं। जिसकी वजह से उन्हें बियर की बोतलों से संबंध बनाते हुए भी देखा गया है।

सन् 1983 में ऑस्ट्रेलिया के एक जीव वैज्ञानिक कपल डैरिल ग्वाइन और डेविड रेन्ट्ज ने सबसे पहले नर Buprestid beetles के इस व्यवहार पर अध्ययन किया था। कीट-पतंगों पर रिसर्च करने वाले इस कपल ने Buprestid beetles की एक तस्वीर जारी की थी जिसमें वो बियर की बोतल के साथ संबंध बनाते नजर आ रहे थे। इसके बाद उन्होंने इसपर गहन रिसर्च करना शुरू किया और उन्होंने पाया कि कई बार Buprestid beetles बियर की बोतलों के साथ संबंध बना रहे है।

दरअसल इस प्रजाति की मादा Insect के डैने खूबसूरत भूरे रंग के होते हैं। समस्या यह है कि चमकदार भूरे रंग के बियर से भरे या खाली बोतलों या ग्लास को अक्सर नर Buprestid beetles गलतफहमी की वजह से अपनी मादा सहयोगी समझ बैठते हैं। जिसकी वजह से वो उसकी तरफ आकर्षित हो जाते हैं। इस कपल ने अपने रिसर्च में साफ-साफ लिखा है कि Buprestid beetles भूरे रंग के खूबसूरत बोतलों के अलाव अन्य किसी रंग की तरफ आकर्षित नहीं होते। इन दोनों ने अपने रिसर्च के दौरान भूरे रंग के बियर के बोतल को करीब 30 मिनट तक जमीन पर रखकर छोड़ दिया।

उन्होंने देखा कि 6 Buprestid beetles इस बोतल के रंग से आकर्षित होकर उसपर आकर बैठ गए और यौन क्रिया करने लगे। ऐसा सिर्फ एक जैसे रंग की वजह से ही होता है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App