ताज़ा खबर
 

रात ईयरफोन लगाकर सोया था लड़का, सुबह उठा तो एक कान से सुनाई देना हो गया बंद

कई मेडिकल एक्सपर्ट का मानना है कि लोग दिन में कई बार तेज आवाज के साथ ईयरफोन का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन रात के वक्त ऐसा करना बेहद खतरनाक है।

चिकित्सकों के मुताबिक रात में सोते वक्त ईयरफोन लगाना खतरनाक हो सकता है। प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स – Indian Express

यह छात्र रात को सोते वक्त अपने कान में ईयरफोन लगा कर सो गया था। रात भर उसने ईयरफोन के जरिए गाना सुना। लेकिन सुबह जब इस छात्र की नींद खुली तो उसे एक कान से बिल्कुल भी सुनाई नहीं दे रहा था। जानकारी के मुताबिक सोने के दौरान उसने दोनों कानों में ईयरफोन लगाया था लेकिन रात में उसके एक कान से ईयरफोन निकल गया था। चिकित्सकों के अनुसार अगर यह ईयरफोन नहीं निकलता तो यह छात्र दोनों कानों से पूरी तरह बहरा हो सकता था।

‘Mail Online’ के मुताबिक यह मामला ताइवान का है। ताइवान के ताइचुंग शहर के एशिया यूनिवर्सिटी हॉस्पीटल, में पढ़ने वाले इस छात्र के नाम के बारे में अभी कुछ पता नहीं चल पाया है। यूनिवर्सिटी में सेकेंड ईयर में पढ़ने वाले इस छात्र के साथ अच्छी बात यह रही कि इसने सही समय पर चिकित्सकों की मदद ली। इस वजह से पांच दिनों के अंदर चिकित्सकों ने उसे पूरी तरह से ठीक कर दिया।

Department of Otorhinolaryngology के निदेशक डॉक्टर तियान हुईजी ने सलाह दी है कि रात में सोते वक्त म्यूजिक सुनने के लिए कान में ईयरफोन का इस्तेमाल बिल्कुल भी ना करें। उन्होंने यह भी सलाह दी है कि अगर किसी शख्स को इस तरह की समस्या हुई है तो वो तुरंत चिकित्सकों से संपर्क करें। कई मेडिकल एक्सपर्ट का मानना है कि लोग दिन में कई बार तेज आवाज के साथ ईयरफोन का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन रात के वक्त ऐसा करना बेहद खतरनाक है। ‘OMG Taiwan’ से बातचीत करते हुए डॉक्टर हुईजी ने कहा कि सोते वक्त इंसान के शरीर में खून का बहाव काफी धीमा हो जाता है। इसका मतलब यह है कि शरीर में मौजूद सेल्स को तेज आवाज बर्दाश्त करने के लिए काफी कम मात्रा में ब्लड मिल पातता है और इसी की वजह से बहरेपन की समस्या उत्पन्न होती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App