ताज़ा खबर
 

शारीरिक संबंध बनाने की पेशकश से परेशान हुए कृत्रिम अंग लगवाने वाले मोहम्मद अबद, कहा- 14 घंटे काम करने के बाद नहीं रहती ताकत

अबद ने बताया कि वह अब लाइफ में सैटल होना चाहते हैं और इसके लिए उनके परिवार वाले उनकी शादी करवाना चाहते हैं। इसको लेकर कुछ लोगों से हमारी बात भी चल रही है।

Author नई दिल्ली। | December 6, 2016 6:31 PM
मोहम्‍मद अबद (Source: Channel 4 TV Grab)

6 साल की उम्र में एक हादसे के कारण प्राइवेट पार्ट गंवाने वाले मोहम्मद अबद को सर्जरी के बाद कृत्रिम लिंग (Bionic Penis) मिलाा था। डॉक्टरों ने सर्जरी करके स्किन और उनके हाथ के टेंडॉन्स (एक लचीली कॉर्ड ) के जरिए इसे बनाया था। 44 साल के अबद ने एक अखबार को बताया कि उनके साथ संबंध बनाने के लिए लगातार महिलाओं के ऑफर आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि ऑनलाइन बहुत सी महिलाओं ने मुझसे पूछा कि क्या मैं उनके साथ संबंध बनाउंगा। उन्हें लगता है कि मैं ज्यादा समय तक प्यार कर सकता हूं। लेकिन मैं उनसे यही कहता हूं कि उनकी ख्‍वाहिश पूरी नहीं कर सकता, क्‍योंकि मैंं थक जाता हूं। मैं रोज 14 घंटे की शिफ्ट करता हूं और उसके बाद घर लौटता हूं। इसके बाद मुझमें इतनी ताकत नहीं रह जाती कि मैं शारीरिक संबंध बनाने की सोचूं। यह बात उन्होंने ”स्टार” से कही।

अबद ने बताया कि वह अब लाइफ में सैटल होना चाहते हैं। परिवार वाले उनकी शादी कराना चाह रहे हैं। कुछ लोगों से इस बारे में बात भी चल रही है। मुझे इस बात की कोई परवाह नहीं है वो मोटी होगी या पतली, छोटी होगी या लंबी। पैरेंट्स मेरे लिए सही मैच ढूंढेंगे। हाल ही में अबद ने सेक्स वर्कर चार्लोट रोज के साथ संबंध बनाकर अपनी वर्जिनिटी गवाई थी।

गौरतलब है कि हडर्सफील्ड में 1978 में हुई एक दुर्घटना में अबद बच गए थे। उस समय वह छह साल के थे। अबद ने अपने 8 इंच के बॉयोनिक पेनिस के लिए 2012 में सर्जरी कराई थी। रोज को अबद के बारे में जानकारी समाचार पत्र से प्राप्‍त हुई। इसके बाद उसने मुफ्त में अबद के साथ सेक्स की पेशकश की। 35 साल की रोज दो बच्चों की मां है। चैनल 4 पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम ‘लव फॉर सेल’ में दिखाई दे चुकी रोज अपने एक घंटे की सेक्स सर्विस के लिए 200 पाउंड चार्ज करती है।

वीडियो: हेज़ल कीच से शादी के बंधन में बंधे युवराज सिंह; सिख रीति-रिवाज़ों से हुई शादी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App