ताज़ा खबर
 

1909 में प्रकाशित ‘सोजे वतन’ मुंशी जी की ऊर्दू कहानियों का पहला संग्रह था, जिसे अंग्रेजों ने जलवा दिया था और उनके लिखने पर पाबंदी लगा दी थी।

प्रेमचंद को लिखने का काफी शौक था. लेखन में रुचि के चलते उन्होंने किताबें और कहानियां लिखनी शुरू की.1909 में प्रकाशित 'सोजे वतन' मुंशी जी की ऊर्दू कहानियों का पहला संग्रह था, जिसे अंग्रेजों ने जलवा दिया था और उनके लिखने पर पाबंदी लगा दी थी.


Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 35 बार जताई थी हत्या की आशंका, पुलिस को नहीं लगा शिकायतों में दम
2 समझें क्या है ट्रिपल तलाक बिल, मुस्लिम महिलाओं के लिए ऐतिहासक क्यों?
3 Mohammad rafi death anniversary:मोहम्मद रफी का मुंबई का सफर नहीं था आसान, लाहौर में काटते थे बाल, पिता नहीं चाहते थे बनें सिंगर, दोस्त और भाई ने पहचानी थी प्रतिभा
ये पढ़ा क्या?
X