ताज़ा खबर
 

त्योहारों में क्रेडिट कार्ड से कैश विदड्राल कहीं पड़ न जाए भारी! जान लें ये बातें

उदाहरण के लिए, जब आप अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल पैसे निकालने के लिए करते हैं, तब निकाली गई रकम का 2.5%-3% फीस के तौर पर देना पड़ता है। इसमें भी रकम निकालने की न्यूनतम राशि 500 से 700 रुपये के बीच हो सकती है। ये रकम हर बैंक में अलग हो सकती है।

Loan, credit card payment, credit score, increase credit score, financial crisis, financial crisis india, loan india, loan credit card, how to increase credit scoreक्रेडिट कार्ड। प्रतीकात्मक तस्वीर

एडवांस में कैश निकालने की सुविधा क्रेडिट कार्ड की सबसे प्रमुख खूबियों में से एक है। इस विशेषता के जरिए कार्डधारक तुरंत ही कैश निकाल सकते हैं। ये सुविधा हर कठिन वक्त में काम करती है जब आपको कैश निकालने की जरूरत होती है। हालांकि फाइनेंस के जानकार मानते हैं कि क्रेडिट कार्ड से पैसा निकालना समझदारी नहीं है, क्योंकि कैश निकालने के बाद आपको भारी टैक्स और चार्ज भी चुकाने पड़ते हैं।

क्यूबेरा.कॉम के संस्थापक और सीईओ आदित्य कुमार ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस से कहा,”उदाहरण के लिए, जब आप अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल पैसे निकालने के लिए करते हैं, तब निकाली गई रकम का 2.5%-3% फीस के तौर पर देना पड़ता है। इसमें भी रकम निकालने की न्यूनतम राशि 500 से 700 रुपये के बीच हो सकती है। ये रकम हर बैंक में अलग हो सकती है। कुछ में ये कम हो सकती है तो कई में ज्यादा भी सकती है।”

निकासी फीस के अलावा, आपको इस लेनदेन से जुड़ा हुआ ब्याज भी चुकाना पड़ेगा। ब्याज का शुल्क अलग और बेहद उलझाऊ होता है। नकद निकासी के मामले में इस रकम पर दैनिक ब्याज लगाया जाता है जब तक निकाली गई रकम पूरी तरह से चुका न दी जाए। ज्यादातर मामलों में, बैंक हर महीने इस रकम पर 2.5 से 4 प्रतिशत के बीच ब्याज लेता है। ये भी याद रखने की जरूरत है कि क्रेडिट कार्ड से पैसे​ निकालने पर कोई भी ब्याज मुक्त ​अवधि नहीं होती है। इसलिए, निकाली गई रकम पर ब्याज की वसूली पहले दिन से ही की जाती है। ब्याज की दरें हर बैंक के हिसाब से अलग-अलग हो सकती हैं। ये अधिकतम 48 फीसदी प्रति एनम हो सकती है।

क्रेडिटमंत्री के सहसंस्थापक और सीईओ रंजीत पुंज ने बताया,”कल्पना कीजिए कि निकाली गई रकम का कुछ हिस्सा या पूरी रकम आप तय तारीख तक नहीं चुका पाते हैं। अगर ये होता है तो देर से पैसा चुकाने पर आपसे बकाया रकम के अलावा 15 से 30 फीसदी की दर से आपसे टैक्स लिया जाएगा और ये रकम मूलधन और ब्याज के साथ जोड़कर चुकाना बेहद महंगा पड़ता है। इसके अलावा ये सलाह बिल्कुल भी नहीं दी जाती है कि क्रेडिट कार्ड के ​जरिए पैसे की निकासी की जाए। अगर किसी भी तरह से कैश की कमी हो तो, कई अन्य लोन के विकल्प उपलब्ध हैं और ये क्रेडिट कार्ड से पैसे निकालने की अपेक्षा कम महंगा पड़ता है।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 SBI में ऑनलाइन भी खुलवा सकते हैं खाता, यह है तरीका
2 आ गया जाड़े का मौसम, गीज़र खरीदें या इमर्शन रॉड? ऐसे करें फैसला
3 दिवाली से पहले कीड़े-मकौड़ों ने कर रखा है परेशान, इन 7 टिप्स को आजमा आसानी से पाएं छुटकारा