क्या है IPO और कैसे खरीदा जाता है? जानिए

जब कोई प्राइवेट कंपनी सार्वजनिक होने का फैसला करती है, तो वह निवेशकों को अपने शेयरों की पेशकश एक प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश या Initial Public Offering (IPO) के माध्यम से करती है। यह किसी कंपनी द्वारा जनता, संस्थागत निवेशकों और HNI को शेयरों की पहली बिक्री है।

क्या है IPO और कैसे खरीदा जाता है? (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

फंड हाउस आदित्य बिड़ला सन लाइफ एएमसी लगभग लोगों के लिए एक सुनहरा अवसर लेकर आया है, जो आज से एक अक्‍टूबर तक चलेगा। जिसमें आप भी इस कंपनी के आईपीओ शेयर खरीद सकते हैं। तीन दिवसीय प्रारंभिक शेयर बिक्री का मूल्य बैंड ₹695-712 प्रति निर्धारित किया गया है। बीएसई के आंकड़ों से पता चलता है कि पहले दिन बोली लगाने के पहले घंटे के भीतर, आईपीओ को 0.17 गुना सब्सक्राइब किया गया है और खुदरा हिस्से को 0.35 गुना बुक किया गया है।
बाजार पर्यवेक्षकों के अनुसार, आदित्य बिड़ला एएमसी के शेयर आज ग्रे मार्केट में 27 रुपये के प्रीमियम (जीएमपी) पर उपलब्ध हैं। ग्रे मार्केट एक अनऑफिशियल प्लेटफॉर्म है, जिसमें आईपीओ प्राइस बैंड की घोषणा के बाद आईपीओ शेयरों की लिस्टिंग तक ट्रेडिंग शुरू होती है।

क्‍या होता है ईपीओ?
जब कोई प्राइवेट कंपनी सार्वजनिक होने का फैसला करती है, तो वह निवेशकों को अपने शेयरों की पेशकश एक प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश या Initial Public Offering (IPO) के माध्यम से करती है। यह किसी कंपनी द्वारा जनता, संस्थागत निवेशकों और HNI को शेयरों की पहली बिक्री है। एक IPO बाजार को प्राथमिक बाजार के रूप में वर्गीकृत किया जाता है जहां फर्म लंबी अवधि की पूंजी का उपयोग करना चाहते हैं। आसान भाषा में समझें तो IPO वो प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक प्राइवेट कंपनी सार्वजनिक हो जाती है और उसका नाम स्टॉक एक्सचेंज में आ जाता है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) या बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में आने के बाद, एक कंपनी के पास न्यूनतम 10 करोड़ रुपये की चुकता पूंजी होनी चाहिए। इसके अलावा, निर्गम के बाद का बाजार पूंजीकरण 25 करोड़ रुपये से कम नहीं होना चाहिए।

यह भी पढ़ें: Mahindra XUV 700 की लॉन्चिंग से पहले ही लीक हो गया दाम और वेरियंट, ये हैं डिटेल्स

आदित्य बिड़ला एएमसी का प्रस्‍ताव
आदित्य बिड़ला एएमसी की प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) पूरी तरह से बिक्री के लिए एक प्रस्ताव है, जिसमें दो प्रमोटर, आदित्य बिड़ला कैपिटल और सन लाइफ (इंडिया) एएमसी इन्वेस्टमेंट्स, परिसंपत्ति प्रबंधन फर्म में अपनी हिस्सेदारी बेचेंगे। 3.88 करोड़ इक्विटी शेयरों के आईपीओ में आदित्य बिड़ला कैपिटल द्वारा 28.51 लाख इक्विटी शेयरों और सन लाइफ एएमसी द्वारा 3.6 करोड़ इक्विटी शेयरों की बिक्री का प्रस्ताव शामिल है।

यह भी पढ़ें: फिर बढ़ेगा इस सूबे में आंगनबाड़ियों कार्यत्रियों का मानदेय, बोले CM- जो अभी बढ़ा, वह है पिछला बकाया

कैसे खरीदें IPO?

-पर्याप्‍त पैसे के साथ Demat खाता खोलना सबसे पहले जरुरी होता है। Demat खाते के बिना कोई भी निवेशक IPO के लिए आवेदन नहीं कर सकता है।

-Demat और Trading खाता बनाने के बाद, उसे एप्लिकेशन सपोर्टेड बाय ब्लॉक्ड अकाउंट (ASBA) सुविधा से परिचित होना चाहिए। यह प्रत्येक IPO आवेदक के लिए अनिवार्य है।

-एक निवेशक को IPO में शेयरों के लिए आवेदन करते समय बोली लगाने की जरूरत होती है। यह कंपनी के प्रॉस्पेक्टस में उद्धृत लॉट साइज के अनुसार किया जाता है।

-एक मूल्य सीमा तय की जाती है और निवेशकों को मूल्य सीमा के भीतर बोली लगाने की आवश्यकता होती है। हालांकि एक निवेशक IPO के दौरान अपनी बोली में संशोधन कर सकता है, यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि उसे बोली लगाते समय आवश्यक धन को अवरुद्ध करने की आवश्यकता है।

-अगर कोई निवेशक पूर्ण आवंटन पाने के लिए भाग्यशाली है, तो उसे IPO प्रक्रिया पूरी होने के 6 कार्य दिवसों के भीतर एक Confirmatory Allotment Note (CAN) या पुष्टिकरण आवंटन नोट प्राप्त होगा। शेयर आवंटित होने के बाद, उन्हें निवेशक के Demat खाते में जमा किया जाता है।

-यह सभी कार्य करने के बाद निवेशक को शेयर बाजार में शेयरों की लिस्टिंग के लिए इंतजार करना होगा। यह आम तौर पर शेयरों को अंतिम रूप देने के सात दिनों के भीतर किया जाता है।

वीडा क्लीनिकल रिसर्च ने सेबी के पास 831 करोड़ रुपये के आईपीओ के लिए मसौदा पत्र दिए
क्लिनिकल रिसर्च संगठन वीडा क्लिनिकल रिसर्च ने प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के जरिए 831 करोड़ रुपये से अधिक राशि जुटाने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी के पास प्रारंभिक दस्तावेज दाखिल किए हैं। रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी) के मसौदे के अनुसार, आईपीओ में 331.60 करोड़ रुपये तक के नए इक्विटी शेयर की पेशकश और प्रवर्तकों एवं मौजूदा शेयरधारकों द्वारा 500 करोड़ रुपये की बिक्री की पेशकश (ओएफएस) शामिल होगी। कंपनी आईपीओ से मिलने वाली आय का इस्तेमाल अपने ऋण के भुगतान, पूंजीगत व्यय के वित्तपोषण, सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के अलावा कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं के वित्तपोषण के लिए करेगी।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट