United Bank, OBC और Allahabad Bank में था खाता, तो दें ध्यान! एक अक्टूबर से नहीं चलेगी इनकी चेक बुक, इस तरह पाएं नई

चूंकि, इन तीनों ही बैंकों का अन्य बैंकों में मर्जर हो चुका है, इसलिए पुराने नाम/बैंक वाली चेक बुक्स काम नहीं करेंगी। ऐसे में इस तरह से जुड़ी परेशानी से बचने के लिए आप नई चेक बुक के लिए आवेदन दे दें।

Cheque Book, Bank News, Utility News
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

यूनाइटेड बैंक, ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी) और इलाहाबाद बैंक के खाताधारक थे, तब यह खबर आपके काम की हो सकती है। दरअसल, एक अक्टूबर से इन बैकों की चेक बुकें नहीं चलेंगी। चूंकि, इन तीनों ही बैंकों का अन्य बैंकों में मर्जर हो चुका है, इसलिए पुराने नाम/बैंक वाली चेक बुक्स काम नहीं करेंगी। ऐसे में इस तरह से जुड़ी परेशानी से बचने के लिए आप नई चेक बुक के लिए आवेदन दे दें। यह काम बैंक जाकर ऑफलाइन भी हो सकता है और घर बैठे नेट बैंकिंग के जरिए भी यह काम किया जा सकता है।

ओबीसी और यूनाइटेड बैंक दोनों ही पीएनबी (पंजाब नेशनल बैंक) में मिल चुके हैं। यानी अब सब कुछ पीएनबी का है। नाम, ब्रांच और कस्टमर भी। पीएनबी ने हाल में अपने सभी ग्राहकों को इस बारे में सूचित भी किया है कि ओबीसी और यूनाइटेड बैंक की चेक एक अक्टूबर से नहीं चलेंगी। ये बंद हो जाएंगी। पीएनबी की नई चेकबुक्स में अपडेट किया हुआ आईएफएससी और एमआईसीआर कोड भी रहेगा। पीएनबी की नई चेक बुक के लिए एटीएम/आईबीएस/पीएनबी वन के जरिए अप्लाई किया जा सकता है। इस संबंध में अगर किसी की मदद चाहिए, तो वह आप 1800-180-2222 टोल फ्री नंबर पर पा सकते हैं।

अक्टूबर में 21 दिन बंद रहेंगे बैंक, रिजर्व बैंक ने जारी की गाइडलाइन, इंटरनेट और मोबाइल से ही हो पाएगा लेनदेन

वहीं, इलाहाबाद बैंक का विलय इंडियन बैंक में हो चुका है, जिसके मद्देनजर चेक के जरिए इस बैक के ग्राहकों को लेन-देन के लिए अब इंडियन बैंक की चेक चाहिए होगी। बैंक ने सूचना के जरिए सभी पूर्ववर्ती इलाहाबाद बैंक के ग्राहकों से कहा है कि एक अक्टूबर से पुरानी चेक बुक (पूर्ववर्ती इलाहाबाद बैंक) पेमेंट के लिए नहीं मानी जाएगी, इसलिए नई चेक बुक हासिल कर लें। आप इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग या फिर अपनी नजदीकी इंडियन बैंक की शाखा जाकर इस बाबत संपर्क कर सकते हैं।

आपको बता दें कि 11 अंकों वाला आईएफएससी कोड ऑनलाइन पेमेंट के दौरान काम आता है। हर बैंक का अपना आईएफएससी कोड होता है और बैंक की किसी भी ब्रांच को इसके जरिए ट्रैक किया जा सकता है, जबकि 9 डिजिट वाला एमआईसीआर कोड उन ब्रांच की पहचान करता है, जो इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग सिस्टम का यूज करते हैं।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट