ताज़ा खबर
 

आधार बनाने के लिए रेंट एग्रीमेंट दिया है तो एड्रेस अपडेट कराते समय इस बात का रखें ध्यान, UIADI ने दी जानकारी

UIDAI Aadhar Update: दस्तावेज न रहने की स्थिति में आप अपने पते में अपना पता (जहां आप वर्तमान में निवास कर रहे हैं) को उस जगह के सत्यापनकर्ता की सहमति से अपडेट कर सकते हैं।

आधार बनाने के लिए रेंट एग्रीमेंट दिया है तो एड्रेस अपडेट कराते समय इन बातों का ध्यान रखें। (फाइल फोटो)

UIDAI Aadhar Update: यदि आप आधार में एड्रेस अपडेट करवाने के लिए रेंट एग्रीमेंट दे रहे हैं तो यह सुनिश्चित कर लें कि एग्रीमेंट आवेदक के नाम पर ही हो। साथ ही यह एक रजिस्टर्ड रेंट एग्रीमेंट हो। परिवार के दूसरे सदस्यों का एड्रेस अपडेट करवाने के लिए आपको वैलिडेशन लेटर सर्विस का इस्तेमाल करना पड़ सकता है।

दस्तावेज न रहने की स्थिति में आप अपने पते में अपना पता (जहां आप वर्तमान में निवास कर रहे हैं) को उस जगह के सत्यापनकर्ता (परिवार के सदस्य, रिश्तेदार, मित्र, मकान मालिक) की सहमति और प्रमाणीकरण के साथ अपडेट कर सकते हैं। इसके लिए उस व्यक्ति की अनुमति जरूरी होती है, जिसके मकान में आप रह रहे हैं या जिनके साथ आप रह रहे हैं।

एड्रेस वेरिफाई लेटर को आगे बढ़ाने से पहले निम्न बातों का ध्यान रखें:
– पता सत्यापनकर्ता के पते पर एक गुप्त कोड वाला पता सत्यापन पत्र भेजकर पते को मान्य किया जाएगा।
– निवासी और पता सत्यापनकर्ता दोनों को अपना मोबाइल नंबर को आधार में रजिस्टर/अपडेट करना आवश्यक है। जब रिक्वेस्ट फॉर एड्रेस वैलिडेशन लेटर प्रोसेस में होता है, तब तक दोनों का एक दूसरे के संपर्क में होना आवश्यक है। यदि पता सत्यापनकर्ता निर्धारित समय के भीतर सहमति नहीं देता है तो प्रक्रिया अधूरी रह जाएगी और आधार कार्ड का एड्रेस अपडेट नहीं होगा। व्यक्ति को फिर से पूरी प्रक्रिया शुरू करनी होगी।

वैलिडेशन लेटर के माध्यम से एड्रेस अपडेट की प्रक्रिया
– निवासी आधार के साथ लॉगइन करें।
– अब वेरिफायर (सत्यापनकर्ता) का आधार अंकित करें।
– अब एसआरएन प्राप्त होगा।
– एड्रेस वेरिफायर को मोबाइल पर लिंक प्राप्त होगा।
– वेरिफायर लिंक पर क्लिक करें
– यहां वे अपनी सहमति दर्ज कराएं।
– निवासी को मोबाइल पर वेरिफायर का सहमति प्राप्त होगा।
– अब निवासी एसआरएन नंबर की सहायता से लॉगइन करें।
– एड्रेस का प्रीव्यू देख लें।
– यदि जरुरत हो तो स्थानीय भाषा को एडिट करें।
– रिक्वेस्ट को सब्मिट कर दें।
– निवासी को पोस्ट के माध्यम से लेटर और गुप्त कोड मिलेगा।
– अब ऑनलाइन एड्रेस अपडेट पोर्टल में लॉगइन करें।
– एड्रेस को गुप्त कोड के माध्यम से अपडेट करें।
– एक बार फिर से सही तरीके से एड्रेस को देख लें और फाइनल सब्मिट करें।
– भविष्य में अपडेट स्टेटस देखने के लिए यूआरएन मिलेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Paytm यूजर हैं तो पढ़ लें ये खबर, 3500 फोन नंबरों से रहें सावधान, वरना जीरो हो जाएगा बैंक अकाउंट
2 इनकम टैक्स से आए किसी भी मेल से रहें सावधान! डिपार्टमेंट ने जारी किए सरकारी ई-मेल और SMS आईडी, देखें- लिस्ट
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit