ताज़ा खबर
 

UIDAI का अलर्ट! Aadhaar को इंटरनेट कैफे से डाउनलोड कर रहे हैं तो जरूर करें ये काम

UIDAI कहता है कि यूजर्स अपने आधार से किसी अन्य का मोबाइल नंबर कभी भी लिंक न करें और न ही कभी भी किसी से ओटीपी शेयर। इसके साथ ही बायोमेट्रिक हमेशा लॉक रखें।

आधार सेवा केंद्र (Express photo by Prashant Nadkar )

आधार कार्ड एक बेहद ही महत्वपूर्ण सरकारी दस्तावेज है। आधार कार्ड का इस्तेमाल कई महत्वपूर्ण कामों के लिए होता है। यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) द्वारा आधार कार्ड जारी किया जाता है। आधार कार्ड के जरिए होने वाली धोखाधड़ी को लेकर यूआईडीएआई ने लोगों को अलर्ट किया है।

यूआईडीएआई ने ट्वीट कर कहा है कि ‘यूजर्स को यह याद रखना चाहिए कि ई-आधार डाउनलोड करते समय सार्वजनिक कंप्यूटर का उपयोग करने से बचना चाहिए। यहां तक ​​कि अगर कोई ऐसा करता है, तो उसे ई-आधार की सभी डाउनलोड की गई प्रतियों को उस कंप्यूटर से हटा देना चाहिए।’

यूआईडीएआई के मुताबिक आपको कम्प्यूटर पर ‘Shift+Delete’ बटन प्रेस कर उस फाइल को डिलीट कर देना चाहिए। यूआईडीएआई ये भी कहता है कि यूजर्स अपने आधार से किसी अन्य का मोबाइल नंबर कभी भी लिंक न करें और न ही कभी भी किसी से ओटीपी शेयर। इसके साथ ही बायोमेट्रिक हमेशा लॉक रखें।

Aadhaar कार्ड को लेकर UIDAI की चेतावनी! फ्रॉड से बचना है तो जान लें

मालूम हो कि आधार किसी की पहचान साबित करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेजों में से एक है। आधार में 12 अंकों का यूनिक नंबर मिलता है जो यूआईडीएआई द्वारा भारत के किसी भी नागरिक को मुफ्त में जारी किया जाता है। ई-आधार आधार की फिजिकल कॉपी की तरह समान रूप से मान्य है।

आधार कार्ड में जो जानकारियां दर्ज होती हैं वे काफी संवेदनशील होती है। आधार कार्ड में नाम, पता, मोबाइल नंबर (एच्छिक), आईरिस स्कैन, फिंगर प्रिंट आदि संवेदनशील जाकनकारियां दर्ज होती हैं। आधार कार्ड को लेकर बढ़ते धोखाधड़ी के मामलों के संदर्भ में यूआईडीएआई ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल के जरिए आगाह करता रहता है।

Next Stories
1 LIC Jeevan Anand: रोजाना 108 रुपये निवेश कर पाएं 23 लाख, जानें क्या है पूरी पॉलिसी
2 पेट्रोल-डीजल बचाने के क्या तरीके हैं? इन बातों का रखना होगा ध्यान
3 Hero Destini 125: 1,882 रुपये की EMI पर घर ले जाएं ये स्कूटर, जानें पूरी डिटेल
ये पढ़ा क्या?
X