scorecardresearch

अंबानी-अडाणी और बिड़ला के नाम पर भेजते थे फर्जी ई-मेल, झांसा दे एक साल में ठगे डेढ़ करोड़; जानें- कैसे करते थे ठगी

बिहार पुलिस ने पटना से ऐसे दो अपराधियों को पकड़ा है, जो लोगों से पैसे ठगने के लिए अंबानी-अडाणी और बिड़ला के नाम पर फर्जी ई-मेल भेजते थे।

Cyber Crime | Cyber Fraud
अडाणी और अंबानी के नाम पर भेजते थे फर्जी ईमेल (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

साइबर अपराध से लोग भले ही सतर्क हो रहे हैं, लेकिन पैसों की ठगी के लिए साइबर अपराधियों द्वारा हर दिन नए-नए तरीके अपनाए जा रहे हैं। अब इसी क्रम में एक नया मामला सामने आया है, जो आपको भी सोचने पर मजबूर कर देगा। बिहार पुलिस ने पटना से ऐसे दो अपराधियों को पकड़ा है, जो लोगों से पैसे ठगने के लिए अंबानी-अडाणी और बिड़ला के नाम पर फर्जी ई-मेल भेजते थे।

ई-मेल में लोन और लॉटरी के नाम पर लोगों को भेजा जाता था और जैसे ही लोग इसके झांसे में आ जाते थे, अपराधी इनके खाते से पैसे निकाल लेते थे। पुलिस बरामद हुए फोन से कई मेल निकाले हैं, जिनकी आईपी एड्रेस की जांच की जा रही है। यह गिरोह एक साल में डेढ़ करोड़ से अधिक की ठगी कर चुका है। थानेदार सुनील कुमार सिंह ने कहा कि संदिग्‍ध मेल आईडी मिले हैं और अन्‍य आरोपियों की तलाश की जा रही है।

इन ईमेल आईडी से आए कोई मेल तो न दें जवाब
संदिग्‍ध ईमेल आईडी के बारे में जानकारी दी गई है कि, इसमें अडाणी-अंबानी और बिड़ला के नाम पर कई ईमेल आईडी हैं। इसमें ambaniloanfinancebusiness@gmail.com, birlaloanfinance@gmail.com, abiloanfinance@gmail.com, adityabiralaloan@gmail.com, allchampionsloan@gmail.com के नाम की मेल आईडी मिली है।

कैसे करते थे फ्रॉड
पुलिस को पांच खातों की जानकारी मिली है, जिसमें से अभी तक 1.50 करोड़ की धनराशि निकाली जा चुकी है। इसमें से अधिकांश पैसा नालंदा के सोहसराय से निकाला गया है। इसमें पुलिस को 10 यूपीआई आईडी मिला है। पुलिस ने बताया कि ये मेल पर जानकारी भेजने के बाद इन्‍ही यूपीआई का उपयोग कर लोगों की जानकारी लेकर पैसे ट्रांसफर कर लेते थे।

कभी भी न करें ये चीजें शेयर
आरबीआई लोगों को हमेशा साइबर फ्रॉड से सतर्क रहने की सलाह देता है। अगर आप ऑनलाइन पैसों की लेनदेन करते हैं या आपके पास बैंक अकाउंट है तो आपको कभी भी अपनी बैंक संबंधी जानकारियां शेयर नहीं करनी चाहिए। वहीं यूपीआई पिन, पासवर्ड, ओटीपी और अकाउंट की जानकारी किसी को भी नहीं देनी चाहिए। कोई भी बैंक आपसे ये सभी जानकारियां नहीं मांगता है।

लालच देने वाले मैसेज से रहें सावधान
साइबर अपराध अक्‍सर लोगों को अपने झांसे में लेने के लिए बड़े-बड़े वादे जैसे- लोन, लॉटरी और कार-गाड़ी आदि देने का वादा करते हैं। ऐसे में लोगों को इस बात को ध्‍यान रखना चाहिए कि इन मैसेज की जांच के बाद कोई कदम उठाएं। इसके साथ ही फ्रॉड की जानकारी होने पर तुरंत साइबर सेल को जानकारी देनी चाहिए। फ्रॉड होने पर तुरंत जानकारी दी जाती है तो पैसे वापस भी हो सकते हैं।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट