1 अगस्त से होने जा रहे हैं ये बदलाव, ATM कैश निकासी पर देना होगा ज्यादा चार्ज

1 अगस्त से कुछ ऐसे बदलाव होने जा रहे हैं जिनका आम आदमी की जेब पर सीधा असर पड़ेगा। ऐसे में बढ़ती महंगाई के बीच आपके लिए यह जानना जारूरी हो जाता है कि आखिरकार ये बदलाव क्या-क्या हैं।

money, calculator, india news
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

1 अगस्त से कई अहम बदलाव होने जा रहा है जिनका असर देशभर में होगा। ये ऐसे बदलाव हैं जो कि हमारी रोजमर्रा की जिंदगी से संबंध रखते हैं। इन बदलावों का असर आम आदमी की जेब पर भी पड़ने जा रहा है।

यह बदलाव आपको किस तरह प्रभावित करेंगे और ये बदलाव क्या-क्या हैं इन्हें समझने की कोशिश करते हैं। आइए जानते हैं उन बदलावों के बारे में जो अगस्त से होने जा रहे हैं..

अगले तीन से चार महीनों तक ये बैंक ग्राहकों को नहीं इश्यू कर पाएगा क्रेडिट कार्ड, जानें वजह

1. महीने की पहली तारीख को भी अब आपके खाते में सैलरी और पेंशन आ सकेगी। महीने की पहली तारीख को अगर छुट्टी भी होगी तो तब भी सैलरी और पेंशन आएगी। ऐसा नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस (NACH) के छुट्टी वाले दिन भी उपलब्ध रहने के कारण होगा। अब तक छुट्टी के दिन वेतन-पेंशन आदि का भुगतान नहीं होता था और ये सुविधा बैंकों के कामकाज वाले दिनों में ही उपलब्ध होती हैं। आरबीआई के मुताबिक ग्राहकों को और बेहतर सुविधाओं देने और चौबीसों घंटे उपलब्ध रहने वाली रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) का पूरा लाभ लेने के लिए एनएसीएच को एक अगस्त से हफ्ते के सभी दिनों के लिए उपलब्ध करवाया जा रहा है। वहीं ईएमआई भी छुट्टी वाले दिन आपके खाते (अपने आप भुगतान या ECS की सुविधा लेने वाले ग्राहक) से काट ली जाएगी।

2. आरबीआई ने करीब 9 साल बाद इंटरचेंज फीस में इजाफा किया है। इसका असर एटीएम कैश निकासी के दौरान ग्राहकों पर पड़ेगा। 1 अगस्त एटीएम की इंटरचेंज फीस 15 रुपये से बढ़कर 17 रुपये हो जाएगी। नॉन-फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन पर भी शुल्क 5 रुपये से बढ़ाकर 6 रुपये कर दिया गया है। नि:शुल्क ट्रांजैक्शन की सीमा पार करने के बाद अलग-अलग बैंकों के एटीएम से कैश निकासी की जाती है तो इसे ही इंटरचेंज फीस कहते हैं। यानी कि जब तय सीमा के बाद एक बैंक का ग्राहक दूसरे बैंक के एटीएम की सेवाएं लेता है तो इस सर्विस को इंटरचेंज फीस के जरिए वसूला जाता है।

3. आईसीआईसीआई बैंक के ग्राहकों के लिए 1 अगस्त से नए नियम लागू होने जा रहे हैं। आईसीआईसीआई चेक ट्रांजेक्शन, एटीएम ट्रांजेक्शन, एटीएम इंटरचेंज ट्रांजेक्शन में बदलाव करने जा रहा है। ये नियम सैलरी और सभी डोमेस्टिक बचत खातों पर लागू होने जा रहे हैं। आप बैंक की ब्रांच में चेक से अब सिर्फ 4 बार ही फ्री कैश लेन-देन कर सकेंगे। इस सीमा के समाप्त होते ही प्रति लेन-देन 150 रुपये का भुगतान करना होगा। 6 मेट्रो शहरों में महीने में 3 बार एटीएम के जरिए फ्री ट्रांजैक्शन तो वहीं नॉन-मेट्रो शहर में 5 ट्रांजैक्शन फ्री हैं। इस सीमा के समाप्त होने पर ग्राहकों को 6 मेट्रो शहर में प्रति ट्रांजेक्शन 20 रुपये अदा करने होंगे तो वहीं इसके अलावा अन्य शहरों में 8.50 रुपये प्रति ट्रांजेक्शन।

4. अगर इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) में आपका बचत खाता है और आप डोर स्टेप सर्विस का लाभ उठाना चाहते हैं, तो अब आपको अतिरिक्त शुल्क देना होगा। इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक 1 अगस्त से डोर स्टेप बैंकिंग सर्विस चार्ज लेने का नियम लागू कर रहा है। अभी इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक डोरस्टेप बैंकिंग के लिए कोई चार्ज नहीं लेता है। 1 अगस्त 2021 से ग्राहकों को डोरस्टेप सर्विस के हर आवेदन पर 20 रुपये प्लस जीएसटी चार्ज देना होगा। अब तक आईपीपीबी अपने खाताधारकों को घर-घर जाकर मुफ्त सेवा प्रदान करता था।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X