SBI Credit Cards वालों के लिए हर खरीद पर 99 रुपए चार्ज तो PNB की ब्याज दरों में कमी…1 दिसंबर से हो जाएंगे ये बदलाव; जानें

माचिस के दाम बढ़ने वाले हैं। इसकी कीमत 14 साल बाद दोगुनी होगी।

credit card, debit card, sbi
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

दिसंबर 2021 में कुछ प्रमुख बदलाव होने वाले हैं, जो आपके बजट और वित्तीय स्थिति से जुड़े हैं। इन फेरबदल से बड़े स्तर पर लोग प्रभावित होंगे, तो आइए जानते हैं कि वे कौन सी चीजें हैं जो नए महीने में बदल जाएंगी:

  • गैस के दाम हर माह एक तारीख को बदलते हैं। सरकारी तेल कंपनियां इसी डेट को एलपीजी सिलेंडर के दाम का रिव्यू करती हैं। चूंकि, कोरोना का नया स्ट्रेन ओमीक्रॉन मिला है। अफ्रीका के अलावा दुनिया भर के बाकी मुल्कों में इसे लेकर चिंता का माहौल है। इस बीच, कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आ गई। माना जा रहा है कि एक दिसंबर के रिव्यू में एलपीजी सिलेंडर के दाम कम किए जा सकते हैं।
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI) का क्रेडिट कार्ड रखते हैं? अगर हां, तब अगले महीने से इससे खरीदारी करना आपके लिए महंगा हो जाएगा। दरअसल, अब हर परचेज पर 99 रुपए देना पड़ेगा। साथ ही टैक्स भी लागू होगा। यह रकम प्रोसेसिंग शुल्क के तौर पर ली जाएगी। अभी और किसी बैंक ने इस चीज की शुरुआत नहीं की है।
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB) ने एक दिसंबर, 2021 से नई ब्याज दरें लागू करने का फैसला कर लिया है। बैंक के इस निर्णय से खाताधारकों को झटका लगेगा। दरअसल, पहले तक सेविंग अकाउंट में सालाना ब्याज दर 2.90 थी, जो कि नई व्यवस्था के तहत 2.80 फीसदी होगी।
  • यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (Universal Account Number) को आधार कार्ड (Aadhaar Card) से लिंक करना जरूरी है। अगर आप यह काम नहीं करते हैं, तब आपके कई काम अटक सकते हैं। मसलन आपका अगर आपने यह काम न किया तब आपके खाते में कंपनी की ओर से आने वाला कॉन्ट्रिब्यूशन रोक दिया जाएगा।
  • माचिस के दाम बढ़ने वाले हैं। इसकी कीमत 14 साल बाद दोगुनी होगी। एक दिसंबर से एक माचिस की डिब्बी के लिए दो रुपए खर्चने पड़ेंगे, जबकि अब तक यह एक रुपए में मिल जाया करती थी। वैसे, इससे पहले साल 2007 में माचिस के दाम 50 पैसे से बढ़ाकर एक रुपए किए गए थे। बता दें कि साल 1950 में एक माचिस की डिब्बी पांच पैसे में आती थी। 10 साल बाद यानी कि 1960 में इसका दाम 10 पैसे हो गया। फिर 1970 में यह 15 पैसे में आने लगी, जबकि 1980 में यह 25 पैसे की हो गई। आगे 1994 में इसका दाम 50 पैसे हो गया, जो साल 2008 आते-आते एक रुपए हो गया।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट