ताज़ा खबर
 

SBI में FD पर बढ़ी हुई ब्‍याज दरें लागू, जानिए किसको होगा सबसे ज्‍यादा फायदा

एसबीआई ने ये बढ़ोत्तरी एक करोड़ रुपये से कम मूल्य की स्थायी जमा पर की है। बैंक ने ये बढ़ोत्तरी 5 दिसंबर को होने वाली पांचवीं द्वि-मासिक मौद्रिक नीति समीक्षा के परिणाम आने से पहले की है।

एसबीआई। (Image source-Reuters)

देश में सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक आॅफ इंडिया ने आज से अपने स्थायी जमा (फिक्स डिपॉजिट) पर ब्याज दरों में परिवर्तन कर दिया है। ये परिवर्तन कुछ निश्चित वक्त के लिए जमा किए गए धन पर ही लागू होगा। ये जानकारी एसबीआई ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट sbi.co.in पर दी है। एसबीआई ने स्थायी जमा पर ब्याज दरों में 0.05-0.10 फीसदी या 5-10 बेसिस प्वाइंट की बेहद मामूली बढ़ोत्तरी की है। एक बेसिस प्वाइंट का 0.01 फीसदी के बराबर होता है। एसबीआई ने ये बढ़ोत्तरी एक करोड़ रुपये से कम मूल्य की स्थायी जमा पर की है। बैंक ने ये बढ़ोत्तरी 5 दिसंबर को होने वाली पांचवीं द्वि-मासिक मौद्रिक नीति समीक्षा के परिणाम आने से पहले की है।

एसबीआई की आम नागरिकों के लिए 28 नवंबर से परिवर्तित नई दरों का लाभ सिर्फ 2 साल या उससे अधिक लेकिन 3 साल से कम वक्त की स्थायी जमा के ग्राहकों को मिलेगा। पूर्व की दरों 6.75 के मुकाबले अब उक्त अवधि के स्थायी जमा ग्राहकों को 6.8 फीसदी सालाना ब्याज मिलेगा।

वहीं एसबीआई के वरिष्ठ ग्राहकों, जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है, उन्हें इस बढ़ोत्तरी का कुछ ज्यादा लाभ मिलेगा। वरिष्ठ आयु के ग्राहकों को स्थायी जमा खाते में 2 साल या उससे अधिक लेकिन 3 साल से कम की स्थायी जमा पर अब 7.3 फीसदी ब्याज मिलेगा। पहले ये दर 7.25 फीसदी थी। बाकी सभी अवधि की स्थायी जमा के लिए पूर्व में लागू ब्याज दरें ही लागू रहेंगी।

एसबीआई ने यह भी कहा है कि एसबीआई स्टाफ और एसबीआई के पेंशनधारकों के लिए ब्याज की दरें आम खाताधारकों से एक फीसदी ज्यादा रहेंगी। भारत के निवासी सभी वरिष्ठ नागरिकों और 60 साल की उम्र पार कर चुके एसबीआई के पेंशनधारकों को सभी अवधि की स्थायी जमा पर 0.50 फीसदी अधिक ब्याज दर मिलेगी।

लेकिन भारतीय नागरिकता रखने वाले एसबीआई के पेंशनर्स को कर्मचारियों को स्थायी जमा पर मिलने वाले 1 फीसदी ब्याज दर के मुनाफे के साथ ही वरिष्ठ ना​गरिकों को मिलने वाला 0.50 फीसदी लाभ भी मिलेगा। बता दें कि इससे पहले निजी क्षेत्र के बैंक जैसे आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक ने क्रमश: 15 और 6 नवंबर को अपनी ब्याज दरों में परिवर्तन किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App