scorecardresearch

SBI ग्राहक अपने बैंक अकाउंट की ट्रांजेक्शन हिस्ट्री जानें सिर्फ एक फोन कॉल पर, ये है तरीका

SBI ग्राहक घर बैठे ही अपनी पिछली पांच ट्रांजेक्शन के बारे में जान सकते हैं। एक फोन कॉल के जरिए एसबीआई ग्राहक ट्रांजेक्शन हिस्ट्री जान सकते हैं।

SBI ग्राहक अपने बैंक अकाउंट की ट्रांजेक्शन हिस्ट्री जानें सिर्फ एक फोन कॉल पर, ये है तरीका
भारतीय स्टेट बैंक के बाहर खड़े ग्राहक।

कोरोना संकट और लॉकडाउन के चलते देशव्यापी लॉकडाउन लागू है। लॉकडाउन 14 अप्रैल को खत्म हो रहा है लेकिन माना जा रहा है कि सरकार इसे 30 अप्रैल तक बढ़ा सकती है। इस बीच देश के सबसे बड़ी सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने अपने ग्राहकों को आईवीआर की सुविधा दी है। ग्राहक घर बैठे ही अपनी पिछली पांच ट्रांजेक्शन के बारे में जान सकते हैं। एक फोन कॉल के जरिए एसबीआई ग्राहक ट्रांजेक्शन हिस्ट्री जान सकते हैं।

ग्राहकों को बैंक खाते से लिंक किए गए अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 18004253800 या 1800112211 पर कॉल करना होगा। कॉल करने के बाद आपसे भाषा को सेलेक्ट करने के लिए कहा जाएगा। अगर आपको हिंदी में जानकारी चाहिए तो हिंदी और इंग्लिश भाषा में जानकारी चाहिए तो अलग-अलग नंबर प्रेस करन के लिए कहा जाएगा।

इसके बाद आपको पिछली पांच ट्रांजेक्शन की हिस्ट्री बता दी जाएगी। एसबीआई के सेविंग अकाउंट के लिए ही ये आईवीआर सुविधा दी गई है। बचत खातों के अलावा ज्वाइंट अकाउंट पर यह सेवा उपलब्ध नहीं है। वहीं ऐसे बैंक खाते जो एक्टिव हैं उनपर ही यह जानकारी मुहैया करवाई जा रही है। इसके साथ ही वे एक्टिव खाते जिनका नो योर कस्टमर (केवाईसी) पूरा हो उन्हीं पर अकाउंट की ट्रांजेक्शन हिस्ट्री मिलेगी।

लॉकडाउन की इस कठिन घड़ी में ग्राहकों को कोरोना संक्रमण से बचाने, बैंक में भीड़ को लगातार कम करने की दिशा में एसबीआई खाताधारकों को घर पर ही कैश डिलीवर कर रही है। बैंक नकदी देने के साथ-साथ नकदी जमा करने की भी सुविधा खाताधारकों को उनके घर पर ही दे रहा है। अगर किसी खाताधारक को आपात स्थिति में कैश की जरूरत पड़ती है तो बैंक घर तक नकदी की रकम पहुंचा रहा है। हालांकि ये सुविधा कुछ ही जगहों पर मुहैया करवाई जा रही है।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 12-04-2020 at 11:57:14 am
अपडेट