सिर्फ 100 रुपये में खुल जाएगा PPF अकाउंट, सरकार की ओर से मिलते हैं ये फायदे

एक पीपीएफ अकाउंट की न्यूनतम समय अवधि 15 साल होती है। कहने का मतलब ये है कि एक बार अकाउंट खुलने के बाद निवेश 15 साल तक के लिए लॉक हो जाता है।

अधिक से अधिक 5 लाख रुपये निवेश किया जा सकता है। (Photo-Indian Express)

भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए बचत जरूरी होता है। बचत के लिए कई ऐसी योजनाएं हैं जिस पर सरकार की ओर से ब्याज दी जा रही है। इनमें से एक योजना पब्लिक प्रोविडेंड फंड (पीपीएफ) भी है। आज हम आपको पीपीएफ के बारे में विस्तार से जानकारी दे रहे हैं।

100 रुपये में खोल सकेंगे अकाउंटः अगर पीपीएफ अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सिर्फ 100 रुपये खर्च करने होंगे। वहीं, निवेश की बात करें तो किसी एक वित्तीय वर्ष में कम से कम 500 रुपये कर सकते हैं। वहीं, अधिक से अधिक 5 लाख रुपये निवेश किया जा सकता है। राशि प्रतिवर्ष अधिकतम 12 किस्तों में या एकमुश्त राशि में जमा की जा सकती है।

एक पीपीएफ अकाउंट की न्यूनतम समय अवधि 15 साल होती है। कहने का मतलब ये है कि एक बार अकाउंट खुलने के बाद निवेश 15 साल तक के लिए लॉक हो जाता है। अकाउंट होल्डर्स अपने अकाउंट की समय अवधि को और 5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं।( ये पढ़ें-इन कर्मचारियों के लिए लिया गया ये अहम फैसला, ऑर्डर जारी)

इस अकाउंट में जमा रकम पर सरकार की ओर से ब्याज दिया जाता है। पीपीएफ पर ब्याज दर 7.1 फीसदी है। हालांकि, सरकार तिमाही आधार पर इस ब्याज की समीक्षा करती है, इसमें बदलाव भी हो सकता है।

आम तौर पर एक पीपीएफ खाता खोलने के बाद तीसरे वित्तीय से लोन का लाभ लिया जा सकता है। खाता खोलने के साल से सातवें वित्तीय वर्ष से प्रत्येक वर्ष निकासी की अनुमति है। पीपीएफ अकाउंट, भारत सरकार द्वारा समर्थित होता है। (ये पढ़ें-Aadhaar-PAN लिंक नहीं करवाया तो लगेगा भारी जुर्माना, जानें कैसे करें लिंकिंग)

यही वजह है कि रिस्क फ्री, गारंटीड रिटर्न और कैपिटल प्रोटेक्शन जैसी चीजें मिलती हैं। मामूली रिस्क में आप इस अकाउंट को खोल सकते हैं। पीपीएफ खाता किसी पोस्ट ऑफिस या बैंक में अपने नाम से और नाबालिग की तरफ से किसी और व्यक्ति द्वारा खोला जा सकता है।

पीपीएफ अकाउंट को ट्रांसफर कराने की भी सुविधा मिलती है। इसे एक डाकघर से दूसरे कार्यालय में या डाकघर से बैंक या किसी बैंक से दूसरे बैंक में स्थानांतरित किया जा सकता है। अकाउंट में निवेश की गई रकम के साथ ही उस पर मिलने वाले ब्याज को निकालने पर टैक्स नहीं लगता है। कुछ परिस्थ्तियों में 5 साल पूरा होने के बाद आप अकाउंट को बंद करने का विकल्प चुन सकते हैं।

Next Stories
1 WhatsApp Disappearing Messages Feature से अपने आप डिलीट होगी चैट, जानिए क्या है फीचर और कैसे करेगा काम
2 Zebronics ने लॉन्च की ZEB FIT2220CH Smartwatch, कम बजट में देगी प्रीमियम फीचर्स, यहां है पूरी डिटेल
3 नया लैपटॉप खरीदने से पहले इन 6 बातों का रखेंगे ध्यान, तो कभी नहीं होंगे परेशान
ये पढ़ा क्या?
X