ताज़ा खबर
 

LOAN लेना हो या करना हो भी कोई वित्तीय लेनदेन, कागजात जुटाने की टेंशन खत्म! आ गया SEHMATI ऐप

चार साल पहले शुरू हुई इस पहल को आरबीआई, सेबी, आईआरडीए और पीएफआरडीए ने यूजर्स की सहमति के बाद रेगुलेटेड एंटीटीज को डाटा शेयरिंग की अनुमति दी थी। इसे पहले वित्तीय क्षेत्र और इसके बाद यह दूरसंचार, हेल्थकेयर और अन्य क्षेत्र में प्रयोग में लाया जाएगा।

Sahamati app, RBI, financial transaction, financial sector, business news,news, economy news,finance news,mutual funds,stock market news,Business News Today, india news, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiसहमति ऐप के माध्यम से आप अपने वित्तीय लेनदेन को आसानी से कर सकेंगे। (फाइल फोटो)

बैंक में खाता खुलवाना हो या म्यूचुअल फंड खरीदना, लोन लेना या फिर कोई भी अन्य वित्तीय लेनदेन करना। इन सब कामों को आप पहले की तुलना में आसानी से एक ऐप के माध्यम से कर सकेंगे। समहति एक इसी तरह का एक कलेक्टिव अकाउंट एग्रीगेटर ऐप है।

इस ऐप की मदद लोग या छोटे उद्योग थर्ड पार्टी के साथ अपने फाइनेंशियल डेटा का डिजिटल रूप से शेयर कर सकेंगे। अन्य शब्दों में यह सभी तरह की फाइनेंसियल डिटेल्स को एक जगह जुटाने का कॉमन प्लेटफॉर्म होगा।

चार साल पहले शुरू हुई इस पहल को आरबीआई, सेबी, आईआरडीए और पीएफआरडीए ने यूजर्स की सहमति के बाद रेगुलेटेड एंटीटीज को डाटा शेयरिंग की अनुमति दी थी। इसे पहले वित्तीय क्षेत्र और इसके बाद यह दूरसंचार, हेल्थकेयर और अन्य क्षेत्र में प्रयोग में लाया जाएगा।

उदाहरण के लिए यदि आप बैंक से लोन लेना चाहते हैं या लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदने के लिए आवेदन करना चाहते हैं। लोन देने या पॉलिसी जारी करने से पहले बैंक या इंश्योरेंस कंपनी वित्तीय जानकारी मांगते हैं। इनमें बैंक अकाउंट का डेटा, सैलरी डिटेल, क्लेम हिस्ट्री मांगते हैं।

आपको अलग-अलग स्थान से यह जानकारी जुटाने की आवश्यकता पड़ती है। ऐप के जरिये फाइनेंशियल सूचनाएं हासिल हो सकेंगी। इनमें बैंक, म्यूचुअल फंड, बीमा कंपनी और इनकम टैक्स डिपार्टमेंट शामिल हैं। अकाउंट एग्रीग्रेटर के जरिये सूचनाएं आपकी सहमति से संबंधित संस्थान को पहुंच जाएगी।

जानकारों का मानना है कि इस प्लेटफॉर्म से लेनदेन पूरी तरह से सुरक्षित होगा। एग्रीगेटर ऐप महज ग्राहकों का डेटा को शेयर करेगा। इसे स्टोर या सुरक्षित नहीं किया जाएगा। इतना ही नहीं ट्रांसमिट किए गए डेटा तक संबंधित कंपनियों की पहुंच भी नहीं होगी। इस प्लेटफॉर्म को गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों की भी मदद मिलेगी।

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से अकाउंट एग्रीगेटर का मॉडल तैयार किया गया है। हालांकि, इस एग्रीगेटर के परिणाम के बारे में कुछ भी कहना अभी बहुत जल्दी होगी लेकिन पूरी तरह से प्रयोग में आने के बाद यह ऐप वित्तीय लेनदेन के स्वरूप को पूरी तरह से बदल देगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 SBI Gold Deposit Scheme: घर में पड़े सोने के गहनों से भी कमा सकते हैं मोटी रकम! जानिए तरीका
2 RELIANCE JIO के इन Prepaid Plans पर 50 रुपये तक का डिस्काउंट! जानिए कैसे मिलेगा
3 ROYAL ENFIELD समेत ये मोटरसाइकिल कंपनियां करती हैं 60 मिनट से कम में बाइक सर्विसिंग! जानें डिटेल्स