PM Kisan योजना के बदले नियम! अगर नहीं कराया eKYC तो 10वीं किस्‍त से रह जाएंगे वंचित, जानिए पूरा करने की प्रक्रिया

अगर आप पीएम किसान योजना में रजिस्‍ट्रेनशन के दौरान eKYC नहीं कराया है या फिर ईकेवाई नहीं किया है तो आपकी किस्‍त का पैसा रुक सकता है। ईकेवाईसी कराने के लिए आपको पीएम किसान योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।

PM Kisan योजना के बदले नियम! अगर नहीं कराया eKYC तो 10वीं किस्‍त से रह जाएंगे वंचित (File Photo)

PM Kisan योजना के नियम में बड़ा बदलाव किया गया है। इस योजना के तहत लाभार्थियों किसानों को eKYC कराना अनिवार्य कर दिया गया है। पोर्टल पर दी गई जानकारी के अनुसार, आप सीधे फॉर्मर कॉर्नर वाले ऑप्‍शन पर जाकर या फिर नजदीकी सीएससी केंद्र जाकर आधार आधारित ओटीपी प्रमाणीकरण करा सकते हैं। ईकेवाईसी प्रक्रिया आप घर बैठे मोबाइल, लैपटॉप व कम्‍प्‍यूटर के माध्‍यम से ऑनलाइन कर सकते हैं।

पीएम किसान योजना के तहत किसानों के खाते में 10वीं किस्‍त जारी होने वाली है। केंद्र सरकार की ओर से दस्‍तावेजों की जांच कर लिस्‍ट भी जारी कर दी गई। इसके तहत किसानों के खाते में 15 दिसंबर तक 10 वीं किस्‍त के 2000 रुपये आएंगे। वहीं अगर आप पीएम किसान योजना में रजिस्‍ट्रेनशन के दौरान eKYC नहीं कराया है या फिर ईकेवाई नहीं किया है तो आपकी किस्‍त का पैसा रुक सकता है। ईकेवाईसी कराने के लिए आपको पीएम किसान योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।

ऐसे ऑनलाइन कर सकते हैं ईकेवाईसी

  • सबसे पहले आप https://pmkisan.gov.in/ पोर्टल पर जाएं।
  • इसके बाद आप फार्मर कॉर्नर पर जाएंगे।
  • यहां आपको eKYC का नया विकल्‍प क्लिक करना होगा।
  • आकपे सामने एक नया पेज ओपेन हो जाएगा।
  • इसके बाद आधार से लिंक मोबाइल नंबर डालें और फिर ओटीपी एंटर करें।
  • अगर सबकुछ ठीक रहा तो eKYC पूरी हो जाएगी। प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है तो Invalid लिख कर आएगा।

यह भी पढ़ें: Bank Holiday 2021-22: अगले हफ्ते से दिसंबर में 8 दिन तो जनवरी में 12 दिन बैंक अलग- अलग जगहों पर रहेंगे बंद , फटाफट निपटा लें जरुरी काम

लटक सकता है पीएम किसान योजना की किस्‍त
अगर eKYC की प्रक्रिया इनवैलिबड रही तो आपको पैसा लटक सकता है। जिसे आप आधार के नजदीकी सेवा केंद्र जाकर ठीक करा सकते हैं। बता दें कि केंद्र सरकार इस साल की आखिरी पीएम किसान की किस्‍त देने वाली है। इस योजना में हर साल 6000 रुपये किसानों की सहायता के लिए दिए जाते हैं।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट