ताज़ा खबर
 

धुंध-कोहरे में ड्राइव करने से पहले पढ़ लें ट्रैफिक पुलिस के ये टिप्स

ट्रैफिक पुलिस विभाग की ज्वॉइंट कमिश्नर गरिमा भटनागर ने बताया कि चंद सरल तरीकों से धुंध-कोहरे में हादसों से बचा जा सकता है।

(फाइल फोटो)

दिल्ली-एनसीआर में धुंध-कोहरे ने कोहराम मचा रखा है। आलम यह है कि सुबह से शाम तक विजिबिल्टी कम होने लगी है। सड़क पर नजदीक की चीजें भी साफ नहीं दिखतीं। मसलन वाहन, दिशा सूचक बोर्ड और गति अवरोधक। ऐसे में दुघर्टनाओं की आशंका बनना शुरू हो गई है। लोगों का आवागमन और जनजीवन प्रभावित न हो, इसके लिए ट्रैफिक पुलिस ने बुधवार को ड्राइव पर निकलने वालों के लिए कुछ टिप्स जारी की हैं। ट्रैफिक पुलिस विभाग की ज्वॉइंट कमिश्नर गरिमा भटनागर ने बताया कि चंद सरल तरीकों से धुंध-कोहरे में हादसों से बचा जा सकता है। बाहर निकलने से पहले मौसम की जानकारी जुटा लें। मौका लगे, तो सफर के बीच में भी यह काम कर सकते हैं।

अगर धुंध से जुड़ी चेतावनी जारी हुई हो, बाहर जाने से बचें। अगर जरूरी काम से निकलना पड़े, तो गाड़ी धीमी रफ्तार में चलाएं। हो सके, तो हालात के हिसाब से उसकी गति रखें। यह भी ध्यान रखें कि इस दौरान गाड़ी की सभी लाइटें ठीक से काम कर रही हों। विजिबिल्टी कम होने पर लो बीम हेडलाइट्स और हाई बीम रिफ्लेक्टर्स का इस्तेमाल करें, ताकि सामने की स्थिति स्पष्ट हो सके।

अगर गाड़ी में फॉग लाइट्स हैं, तो और अच्छी बात है। धुंध-कोहरे में लो-बीम के बजाय उन्हीं का इस्तेमाल करें। धुंध-कोहरे में गाड़ियों के बगल से गुरजने, अपनी लेन बदलने और ट्रैफिक के बीच से निकलने से बचें। बीच में गाड़ी चलाने के बजाए दाहिनी ओर चलें। अन्य वाहनों से अपनी गाड़ी के बीच फासला रखें, जिससे आप आसानी से एकदम ब्रेक लगा सकेंगे। ड्राइव के वक्त पूरा ध्यान आसपास की गतिविधियों पर रखें। गाड़ी चलाते समय न तो फोन पर बात करें और न ही लीड पर गाने सुनें। ऐसा करना आपकी जान जोखिम में डाल सकता है।

इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से मिलने वाले चेतावनी से जुड़े चिह्नों को लेकर भी सतर्क रहें। गाड़ी चलाते वक्त आगे देखें और गाड़ी के कांच-शीशों को साफ रखें, ताकि बाहर की चीजें ठीक से दिखें। वाइपर्स का बीच-बीच में इस्तेमाल करते रहें। अगर कोहरा बहुत भीषण हो, तो गाड़ी को किसी सुरक्षित जगह पर पार्क करें। इस दौरान उसके डिपर या फ्लैशर चालू रखें।

ये चीजें कतई न करें-
गाड़ी सड़क पर उस जगह न खड़ा करें या रोकें, जहां पर आवागमन हो रहा हो। ऐसे में अगर दुघर्टना हुई, तो सबसे पहले आप ही उसका शिकार होंगे। कहीं कोहरा कम लगे, तो एकदम से गाड़ी की रफ्तार न बढ़ाएं। आगे हो सकता है कि फिर से आप धुंध-कोहरे के इर्द-गिर्द हों, इसलिए सावधानी बरतें। धीमी गति से गुजर रहे वाहनों के करीब से न गुजरें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App