ताज़ा खबर
 

उज्ज्वला योजना: लॉकडाउन में रसोई गैस की बुकिंग कर रहे हैं? रखना होगा 15 दिन का अंतर

Pradhanmantri Ujjwala Yojana: कोरोना संकट के बीच जल्द ही सिलेंडर के लिए खातों में पैसे ट्रांसफर किए जाएंगे। लेकिन सरकार ने इस सहुलियत का फायदा उठाने के लिए कुछ नियम और शर्ते रखी हैं।

सिलिंडर की डिलीवरी करता कर्मी।

Pradhanmantri Ujjwala Yojana: कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत तीन महीने तक इस योजना के लाभार्थियों को मुफ्त गैस सिलेंडर मिलेगा। ग्राहकों को अप्रैल, मई और जून तक मुफ्त सिलेंडर देने के लिए सरकार खातों में फंड ट्रांसफर कर रही है। जल्द ही खातों में पैसे ट्रांसफर किए जाएंगे। लेकिन सरकार ने इस सहुलियत का फायदा उठाने के लिए कुछ नियम और शर्ते रखी हैं।

पेट्रोलियम मंत्रालय के मुताबिक कोई भी लाभार्थी 15 दिन के अंतराल के बाद ही दूसरा गैस सिलेंडर बुक करने के पात्र होगा। यानि कि एक सिलेंडर बुक करने के बाद अगर किसी लाभार्थी को दूसरा सिलेंडर बुक करवाना है तो वह ऐसा 15 दिन का लॉक पीरियड के समाप्त होने के बाद ही कर सकेगा।

वहीं सरकार ने यह भी कहा है कि एक बार खातों में पैसे ट्रांसफर करने के बाद अगर उसका इस्तेमाल नहीं किया गया तो ग्राहकों को अगले महीने के सिलेंडर के लिए राशि नहीं भेजी जाएगी। सरकार के मुताबिक गैस सिलंडर भरपूर मात्रा में उपलब्ध हैं ऐसे में ग्राहकों को परेशान होने और पैनिक खरीद करने की जरूरत नहीं।

कोरोना संकट के बीच अर्थव्यवस्था को संभालने और गरीबों की मदद के लिए बीते महीने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्थिक राहत पैकेज देने की घोषणा की थी जिसमें फ्री सिलिंडर देने की घोषणा की गई है।

बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना को 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया में लॉन्‍च किया गया था। इसमें गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों के लिए एलपीजी कनेक्शन मुहैया करवाया जाता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 प्रॉपर्टी रजिस्ट्रेशन पर महिलाओं को मिलती है छूट, हाउस सब्सिडी में भी राहत, जानें महिलाओं को मिलते हैं और कौन-कौन से वित्तीय फायदे
2 किसान क्रेडिट कार्ड से लिया है लोन? फिलहाल नहीं चुकाना होगा कर्ज, लॉकडाउन के चलते सरकार ने लिया है फैसला