बैंक और पोस्ट ऑफिस में ऐसे खुलवा सकते हैं PPF अकाउंट, इससे इनकम टैक्स में मिलेगी छूट, जानिए सबकुछ

ऑनलाइन पीपीएफ अकाउंट खोलने के लिये कुछ चीजें जरूरी है। इसके लिये व्यक्ति का बैंक में सेविंग्स अकाउंट होना चाहिये। नेटबैंकिंग की सुविधा एक्टिवेट होनी जरूरी है।

PPF Account, Post office, Bank
पोस्ट ऑफिस के साथ बैंक में भी आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट खुलवा सकते हैं।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) भरोसेमंद निवेश है। जिसमें निवेशक कभी निराश नहीं होते। इसके साथ ही इसमें निवेश की गई रकम पर टैक्स छूट, मैच्योरिटी पर टैक्स-फ्री रिटर्न और सरकार का साथ मिलता है। अब अगर बात करें कि, PPF अकाउंट कहां खुलवा सकते हैं। तो इसके लिए आप इंडियन पोस्ट ऑफिस की किसी भी शाखा में जा सकते हैं। वहीं आप घर बैठे की PPF अकाउंट खोलना चाहते हैं। तो आप भारतीय स्टैट बैंक, पंजब नेशनल बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफीसी बैंक में घर बैठे ही ऑनलाइन तरीके से अपना PPF अकाउंट खुलवा सकते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ नेट बैंकिंग का यूज करना होगा। आइए जानते हैं कि, पोस्ट ऑफिस और बैंक में आप किस तरह से PPF अकाउंट खुलवा सकते हैं और इसमें आपको कितना और कैसा फायदा मिलेगा।

पोस्ट ऑफिस में ऐसे खोलें PPF अकाउंट – इसके लिए आपको अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस की ब्रांच में विजिट करना होगा। जहां आप फॉर्म 1 की मदद से बालिग या नाबालिग दोनों में से किसी का भी अकाउंट खोल सकते हैं। अगर आप अपने दो नाबालिग बच्चों का PPF अकाउंट खोलना चाहते हैं। तो इसमें से एक में पिता और दूसरे में मॉ केयरटेकर बन सकती हैं। वहीं पोस्ट ऑफिस में PPF अकाउंट खुलवाने के लिए आपको 500 रुपये जमा करने होंगे। वहीं आप 15 साल तक PPF अकाउंट में न्यूनतम 500 रुपये सालाना और अधिकतम 1 लाख 50 हजार रुपये सालाना एकमुश्त या किस्तों में जमा कर सकते हैं।

सरकारी और प्राईवेट दोनों बैंक में खुलवा सकते हैं PPF अकाउंट – अगर आप घर बैठे ही बैंक में PPF अकाउंट खुलवाना चाहते हैं। तो इसके लिए आपको संबधित बैंक की नेट बैंकिंग को यूज करना होगा। उदाहरण के लिये HDFC बैंक में आपको पब्लिक प्रोविडेंट फंड के बैनर पर क्लिक करना है। कुछ बैंक इसमें ऑप्शन देते हैं कि आप खुद के लिए अकाउंट खोल रहे हैं या किसी माइनर के नाम पर अकाउंट खोलना चाहते हैं, उस हिसाब से ऑप्शन को चुनें। इसके बाद जिस व्यक्ति को आप नॉमिनेट कर रहे हैं, उसकी डिटेल्स, बैंक डिटेल्स आदि भरें। इसके साथ ही अपना परमानेंट अकाउंट नंबर (PAN) नंबर को भी भरें। इस बात का ध्यान रखें कि भरी गईं डिटेल्स बिल्कुल सही हों। एक बार डिटेल्स को भरने के बाद आप जितनी राशि अकाउंट में भर रहे हैं, उस राशि को भी डालें।

कुछ बैंको में पैसों को किस्तों या एक साथ डिपोजिट करने के लिये व्यवस्था होगी। फिर आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा गया ओटीपी या ट्रांजैक्शन पासवर्ड डालें। इसके हो जाने के बाद आपका पीपीएफ अकाउंट खुल जाएगा। भविष्य के लिये अपना पीपीएफ अकाउंट नंबर नोट कर लें। हालांकि, कुछ बैंकों में आपका डिटेल्स का प्रिंट आउट रेफरेंस नंबर के साथ लेकर बैंक में जमा करना होगा। इसके साथ ही केवाईसी डिटेल्स भी देनी होंगी।

यह भी पढ़ें: सिर्फ 500 रुपये में खुल जाएगा PPF अकाउंट, जानिए आपके लिए क्यों है जरूरी

ऑनलाइन PPF अकाउंट खोलने के लिये जरूरी चीजें – ऑनलाइन पीपीएफ अकाउंट खोलने के लिये कुछ चीजें जरूरी है। इसके लिये व्यक्ति का बैंक में सेविंग्स अकाउंट होना चाहिये। नेटबैंकिंग की सुविधा एक्टिवेट होनी जरूरी है। आपके सेविंग्स अकाउंट के साथ आधार नंबर लिंक होना चाहिये। व्यक्ति के मोबाइल नंबर का आधार के साथ लिंक होना भी जरूरी है।

यह भी पढ़ें: बंद हो चुके पीपीएफ और सुकन्‍या समृद्धि योजना अकाउंट कैसे करें एक्‍ट‍िवेट, जानिए यहां

PPF अकाउंट के फीचर्स – किसी व्यक्ति को अपने पीपीएफ खाते में कम से कम 500 रुपये जमा करने होते हैं। 1 साल में एक व्यक्ति अधिकतम में 1.5 लाख रुपये ही जमा कर सकता है। इसका मैच्योरिटी पीरियड 15 साल का है। पीपीएफ खाते में रकम आप एक बार में या किस्तों में जमा कर सकते हैं। आप हर बार अलग-अलग राशि भी जमा कर सकते हैं। पीपएफ खाते में जमा राशि का इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C में डिडक्शन क्लेम की जा सकती है। इस पर मिलने वाला ब्याज पूरी तरह टैक्स फ्री है। पीपीएफ जमा राशि पर वेल्थ टेक्स भी नहीं देना होता है। कुछ नियमों और शर्तों के अधीन, एक व्यक्ति PPF जमा पर कर्ज ले सकता है। 3 साल के 6 साल के बीच कर्ज लिया जा सकता है।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
रुपया शुरूआती कारोबार में 25 पैसे लुढ़काRupees Vs Dollars
अपडेट