ताज़ा खबर
 

खोलने जा रहे हैं पीपीएफ अकाउंट? इन 10 बातों का रखें ध्यान

पीपीएफ अकाउंट खोलने की योजना बना रहे हैं तो पीपीएफ अकाउंट के बारे में निम्न कुछ बातें जानना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

पीपीएफ अकाउंट खुलवाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान। (image source- Financial express)

आज भारतीय बाजार में इन्वेस्टमेंट के कई विकल्प उपलब्ध हैं, लेकिन अभी भी पब्लिक प्रोविडेंट फंड आम लोगों की पहली पसंद में शुमार है। इसका कारण पीपीएफ से मिलने वाला अच्छा रिटर्न और साथ ही इन्कम टैक्स में मिलने वाला फायदा है। इसके साथ ही पीपीएफ अकाउंट, बैंक और पोस्ट ऑफिस में आसानी से खुलवाया जा सकता है, और अब तो कई बैंक पीपीएफ खातों पर ऑनलाइन सुविधा का भी लाभ दे रहे हैं। अब अगर इन सभी सुविधाओं को देखते हुए आप भी पीपीएफ अकाउंट खोलने की योजना बना रहे हैं तो पीपीएफ अकाउंट के बारे में निम्न कुछ बातें जानना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

1. पीपीएफ अकाउंट पोस्ट ऑफिस और बैंक में एक व्यक्ति के नाम पर या फिर किसी बच्चे के अभिभावक के नाते खुलवा सकते हैं, लेकिन किसी संयुक्त परिवार या ज्वाइंट अकाउंट के रुप में पीपीएफ अकाउंट नहीं खुलवाया जा सकता।

2. पीपीएफ खाता खुलवाने के लिए निम्नतम रुपए की सीमा सिर्फ 100 रुपए है। हालांकि खाते में एक वित्तीय वर्ष में कम से कम 500 रुपए जमा करना जरुरी है, लेकिन एक साल में अधिकतर रुपए जमा करने की सीमा 1,50,000 रुपए ही है और यह रकम अधिकतम 12 किस्तों में जमा की जा सकती है।

3. पीपीएफ अकाउंट का मैच्योरिटी पीरियड 15 साल होता है, लेकिन इसे एक या ज्यादा बार 5-5 साल के लिए बढ़ाया भी जा सकता है।

4. यह खाता खुलवाने के समय व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति को या एक से ज्यादा लोगों को भी अपना नॉमिनी भी बना सकता है।

5. पीपीएफ अकाउंट एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस या बैंक में ट्रांसफर भी किया जा सकता है और इसके लिए खाताधारक को कोई भुगतान भी नहीं करना होता।

6. पीपीएफ खाते पर लोन या फिर विड्रॉल की सुविधा एक तय समय के बाद ही दी जा सकती है। नियमों के अनुसार, पीपीएफ खाता खुलवाने के तीसरे वित्तीय वर्ष के बाद ही लोन की सुविधा मिल सकती है।

7. पब्लिक प्रोविडेंट फंड के तहत खाता खुलवाने पर इन्कम टैक्स एक्ट के नियम यू/एस 80सी के तहत टैक्स में छूट का भी प्रावधान है। इन खातों पर मिलने वाली रकम जहां टैक्स फ्री होती है, वहीं एकमुश्त रकम पर भी कोई टैक्स नहीं लगाया जाता है।

8. पीपीएफ अकाउंट पर फिलहाल ब्याज दर 7.6 प्रतिशत है, जिसकी गणना तिमाही के आधार पर की जाती है।

9. पीपीएफ खातों में प्री-मैच्योर विदड्राल की सुविधा भी मिलती है, यदि तय सीमा से पहले कोई व्यक्ति अपना पैसा निकालना चाहते है तो आसानी से निकाल सकते हैं।

10. पीपीएफ खातों को यदि कोई व्यक्ति तय समय से पहले बंद करना चाहता है तो 15 साल से पहले इसकी अनुमति नहीं है, लेकिन कुछ विशेष परिस्थितियों में बंद किया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App