scorecardresearch

पोस्टमैन आपके घर डिलीवर करेंगे मतदाता पहचान पत्र, चुनाव आयोग और इंडियन पोस्ट ऑफिस के बीच हुआ समझौता, जानिए-पहले कहां शुरू होगी सर्विस

डाक विभाग स्पीड पोस्ट के जनिए फोटो मतदाता पहचान पत्र आपके घर पहुंचाएगा। इसके लिए डाक विभाग और भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) के बीच समझौता हुआ है।

Post Office, Election Commission, Voter ID,
डाक विभाग स्पीड पोस्ट के जनिए फोटो मतदाता पहचान पत्र आपके घर पहुंचाएगा।

डाक विभाग (डीओपी) 150 से अधिक वर्षों से देश के संचार का मजबूत स्तंभ रहा है और इसने देश के सामाजिक और आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यह कई तरह से भारतीय नागरिकों के जीवन से जुड़ा है। जैसे डाक पहुंचाना, छोटी बचत योजनाओं के तहत जमा स्वीकार करना, डाक जीवन बीमा (पीएलआई) और ग्रामीण डाक जीवन बीमा (आरपीएलआई) के तहत जीवन बीमा कवर प्रदान करना और बिल जमा करने, फॉर्मों की बिक्री जैसी खुदरा सेवाएं प्रदान करना।

डाक विभाग महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) में मजदूरी वितरण और वृद्धावस्था पेंशन भुगतान जैसी अन्य सेवाओं के निर्वहन में भारत सरकार के लिए एक एजेंट के रूप में भी कार्य करता है। अब इस क्रम में पोस्ट ऑफिस ने चुनाव आयोग के साथ समझौता किया है। जिसमें पोस्टमैन आपके घर तक फोटो युक्त मतदाता पहचान पत्र पहुंचाएगा।

अब आपके घर पहुंचेगा मतदान पहचान पत्र – डाक विभाग स्पीड पोस्ट के जनिए फोटो मतदाता पहचान पत्र आपके घर पहुंचाएगा। इसके लिए डाक विभाग और भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) के बीच समझौता हुआ है। प्रारंभिक चरण में निर्वाचन आयोग स्पीड पोस्ट के माध्यम से डिलीवरी के लिए 6-7 करोड़ चुनाव या फोटो पहचान पत्र (ईपीआईसी) प्रदान करेगा। जिससे एक साल में लगभग 100 करोड़ रुपये की आमदनी होगी।

पोस्टमैन मोबाइल ऐप से होंगे लैस – ग्रामीण क्षेत्रों में 98,454 डाकघरों सहित 1.43 लाख डाकघरों में पोस्टमैन मोबाइल ऐप लागू किया गया। पोस्टमैन मोबाइल ऐप के माध्यम से जनवरी से अक्टूबर, 2021 तक स्पीड पोस्ट से 47.5 करोड़ डाक की रीयल टाइम डिलीवरी की स्थिति और पंजीकृत लेख तैयार किया गया। साथ ही देशभर में 98% लेटर बॉक्स विभागीय डाकघरों से जुड़े हुए हैं जिसे “नान्याथा” नामक मोबाइल ऐप के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक क्लीयरेंस के तहत कवर किया गया है।

यह भी पढ़ें: EPFO मेंबर्स UAN को आधार से कल तक कर लें लिंक, नहीं तो PF कंट्रीब्यूशन हो जाएगा ब्लॉक

आपको बता दें डाक विभाग ने देश भर में 1.56 लाख डाकघरों के माध्यम से 29.29 करोड़ से अधिक सक्रिय डाक घर बचत बैंक (पीओएसबी) खातों का संचालन करता है। डाकघर बचत बैंक (पीओएसबी) योजनाओं में 12,56,073 करोड़ रुपये का बकाया बैलेंस है। कुल मिलाकर, 1.67 करोड़ नए खाते खोले गए और इनमें 4.71 लाख करोड़ रुपये जमा कराए गए, लगभग 3.48 लाख करोड़ की निकासी की गई और इस प्रकार सीबीएस (कोर बैंकिंग सर्विस) डाकघरों में लगभग 8.19 लाख करोड़ रुपये का लेनदेन हुआ। नतीजतन, अप्रैल, 2021 से सीबीएस डाकघरों में 51.45 लाख नए खाते खुले और 1,22,851 करोड़ रुपये की शुद्ध राशि जमा की गई।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X