ताज़ा खबर
 

भारतीय रेल में टिकट पर मिलती है 75 फीसद तक छूट, जानिए कैसे

रेलवे कुल 53 श्रेणियों को 75 फीसद तक की छूट देती है। खास बात है कि सामान्य वर्ग भी इसके दायरे में आता है। छूट 25 से 75 फीसद तक के बीच होती है। विद्यार्थियों, शोधार्थियों, किसानों और मरीजों से लेकर रेल टिकट पर मिलने वाली यह छूट खिलाड़ियों तक को मिलती है। आइए जानते हैं कौन कितने फीसद तक की छूट रेल सफर पर पा सकता है।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः फेसबुक)

ट्रेन से अधिक सफर करते हैं, तब यह खबर आपके काम की है। आप सस्ती दरों पर यात्रा कर सकते हैं। भारतीय रेल यात्रा के लिए टिकट पर 75 फीसद तक छूट देती है। इस छूट का फायदा बुजुर्गों और दिव्यांगों के अलावा अन्य लोग भी उठा सकते हैं। बशर्ते आपको इस बारे में सही जानकारी होनी चाहिए। रेलवे कुल 53 श्रेणियों को 75 फीसद तक की छूट देती है। खास बात है कि सामान्य वर्ग भी इसके दायरे में आता है। छूट 25 से 75 फीसद तक के बीच होती है। विद्यार्थियों, शोधार्थियों, किसानों और मरीजों से लेकर रेल टिकट पर मिलने वाली यह छूट खिलाड़ियों तक को मिलती है। आइए जानते हैं कौन कितने फीसद तक की छूट रेल सफर पर पा सकता है। सरकारी स्कूल की छात्रा या किसी राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगी परीक्षा में परीक्षार्थी को ट्रेन की सामान्य बोगी की टिकट में 75 फीसद की छूट मिलती है। शोधार्धी भी रेल किराए में रियायत का लाभ उठा सकते हैं। अगर उनकी उम्र 35 साल के नीचे है तो वे शोध के काम के संबंध में सफर पर 50 फीसद तक छूट पा सकते हैं।

कला क्षेत्र से जुड़े हुए लोग भी इस मामले में रियायत का फायदा उठा सकते हैं। रंगमंचकर्मी, संगीतकार और नृतक इस श्रेणी में आते हैं। अगर वे कहीं हिस्सा लेने जा रहे हैं तब सामान्य बोगी या स्लीपर श्रेणी में 75 फीसद छूट मिल सकती है। वहीं, इन लोगों को एसी चेयरकार में 50 फीसद तक डिस्काउंट मिलेगा। सामान्य वर्ग के छात्रों को भी रेल किराए में छूट मिलती है। लेकिन इन लोगों से रेल सफर का कारण पूछता है। मसलन अगर कोई प्रतियोगी परीक्षा का पेपर देने जा रहा है तो वह अपना हॉल टिकट दिखाकर 50 फीसद छूट पा सकता है।

शिक्षक वर्ग को भी इस मामले में भारतीय रेल की ओर से राहत दी जाती है। लेकिन सिर्फ वही शिक्षक छूट पा सकते हैं, जो प्राइमरी, सेकेंड्री या हायर सेकेंड्री स्कूल के टीचर होते हैं। शैक्षणिक दौरे पर सफर के लिए उन्हें 25 फीसद तक डिस्काउंट मिलता है। वहीं, किसानों को भी रेल किराए में 25 फीसद तक छूट दी जाती है। वहीं, कोई किसान सरकार की स्पेशल ट्रेन में सफर करता है, तब वह 33 फीसद छूट का हकदार होता है।

मरीज और तीमारदार भी रेलवे की इस छूट को पा सकते हैं। कैंसर, थैलीसीमिया, टीबी, किडनी और ह्रदय रोगियों और उनके सहयोगियों को सफर पर 75 फीसदी छूट मिलती है। यही नहीं, खिलाड़ी हैं और राष्ट्रीय स्कर के टूर्नामेंट में खेलने जा रहे हैं, तब भी टिकट पर 75 फीसद छूट पाई जा सकती है। राज्य स्तर की खेल प्रतियोगिता में जाने पर 50 फीसद की छूट मिलती है। रेल सफर पर इन रियायतों का फायदा पाने के लिए टिकट बुक कराते या खरीदते वक्त यात्रियों को अपनी श्रेणी का ब्यौरा और प्रमाण देना पड़ेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App