ताज़ा खबर
 

कहीं आपको भी न ऑटोमैटिक जारी हो जाए दूसरा PAN, ऐसा हुआ तो भरनी होगी भारी पेनाल्टी!

Permanent Account Number: सरकार किसी भी व्यक्ति को एक से ज्यादा पैन कार्ड रखने की अनुमति नहीं देती। अगर ऐसा होता है तो किसी भी व्यक्ति के पास पैन कार्ड की कई प्रतियां/कॉपी हो सकती हैं, पर उसके नाम से आवंटित विभिन्न पैन नंबर नहीं हो सकते।

Author Edited By मोहित नई दिल्ली | Updated: December 5, 2019 9:11 PM
इस तस्वीर को प्रतीकात्मक रूप में इस्तेमाल किया गया है। (फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

Permanent Account Number: पर्मानेंट अकाउंट नंबर (पैन) दस अंकों वाला यूनिक नंबर है, जिसे आयकर विभाग द्वारा एक लैमिनेटेड कार्ड के रूप में जारी किया जाता है। यह टैक्सपेयर्स के लिए बेहद जरूरी है। सरकार किसी भी व्यक्ति को एक से ज्यादा पैन कार्ड रखने की अनुमति नहीं देती। अगर ऐसा होता है तो किसी भी व्यक्ति के पास पैन कार्ड की कई प्रतियां/कॉपी हो सकती हैं, पर उसके नाम से आवंटित विभिन्न पैन नंबर नहीं हो सकते।

आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 272बी के मुताबिक, अगर इस स्थिति में कोई धरा जाता है, तब उस पर 10,000 हजार रुपए का जुर्माना लगता है। फिर भी लोगों को सलाह दी जाती है कि अगर उनके पास दो पैन हैं तो वे उसे जल्द से जल्द सरेंडर कर दें।

ऑटोमैटिक जारी न हो पैन: अगर आप पैन की जगह पर आधार संख्या देते हैं, तब इन दोनों चीजों को आपस में लिंक करना बेहद जरूरी है। और, यह चीज न होने पर आपके पास दूसरा पैन कार्ड आ सकता है और आप बड़ी मुश्किल में फंस सकते हैं। दरअसल, हाल ही में सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने 30 अगस्त को एक अधिसूचना जारी की थी। उसमें कहा गया था,’अगर कोई वित्तीय लेन-देन के लिए बगैर पैन के आधार संख्या देता है, तब आयकर विभाग इस चीज को PAN के लिए ऑटो ऐप्लिकेशन (अपने आप आवेदन) समझेगा, जिसके बाद उसे नया पैन जारी कर दिया जाएगा।’

बहरहाल अगर आपके पास भी एक से अधिक पैन कार्ड हैं तो आपको उन्हें सरेंडर कर देना चाहिए। यह काम आप ऑनलाइन भी कर सकते हैं। इससे आप पर पेनाल्टी लगने का खतरा नहीं रहेगा। नियमों के मुताबिक ऐसा होने पर 10 हजार रुपए तक का जुर्माना लग सकता है। पैन सरेंडर करने के लिए आप सबसे पहले NSDL की बेवसाइट पर क्लिक करें। “Request For New PAN Card Or/ And Changes Or Correction in PAN Data” पर जाएं। इसमें अपनी निजी जानकारी भरें, इस जानकारी को जैसे ही सबमिट कर दें। यह फॉर्म इसलिए भरना होगा ताकि पता लग सके कि आपको दूसरा पैन गलत तरीके से अलॉट हो गया है और जिसे आप सरेंडर करना चाहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 LIC ने पॉलिसी धारकों को दी बड़ी राहत, प्रीमियम भरने पर अब नहीं देना होगा ये चार्ज
2 20 साल में छोटी बचत कर बनना चाहते हैं करोड़पति! तो इस तरीके से करें निवेश
3 Reliance Jio ने जारी किया नया टैरिफ रेट, कुछ प्लान 25% हुए सस्ते तो कुछ 40 फीसदी हो गए महंगे, जानें- डिटेल्स
ये पढ़ा क्या?
X