डायबिटीज के 20% से अधिक मरीजों को होता है इन बीमारियों का भी डर, जानें- कैसे किया जा सकता है बचाव

मधुमेह की समस्या पर जोर देते हुए डॉटक्टर मधु ने कहा, ‘‘यह दुनिया भर में और हमारे देश में भी नियंत्रण से बाहर होता जा रहा है। दुनिया भर में मधुमेह के 50 करोड़ मरीज हैं और भारत में ही 8.5 करोड़ लोग मधुमेह के मरीज हैं। शहरी इलाकों, जैसे दिल्ली में मधुमेह की समस्या ज्यादा विकट और बड़ी है।’’

diabetes, health news, utility news
शरीर में ग्लूकोज बढ़ने की स्थिति को डायबिटीज कहते हैं। ऐसा इंसुलिन की कमी के चलते होता है। (क्रिएटिवः Freepik/अभिषेक गुप्ता)

विशेषज्ञों का कहना है कि मधुमेह के 20 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को हृदय रोग, किडनी, आंख या स्नायु (नर्व) संबंधी कोई ना कोई दीर्घकालिक बीमारी होती है और इनका समय पर पता लगाया जाना चाहिए ताकि इनसे पैदा होने वाले कुप्रभावों को रोका जा सके या उन्हें प्रभावी रूप से टाला जा सके।

यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज और दिल्ली के गुरु तेगबहादुर (जीटीबी) अस्पताल में एंडोक्रायनोलॉजी विभाग के प्रमुख और निदेशक प्रोफेसर डॉक्टर एस. वी. मधु ने कार्यक्रम में कहा कि ‘अंतरराष्ट्रीय डायबिटिज फेडरेशन’ द्वारा विश्व मधुमेह दिवस की थीम ‘एक्सेस टू डायबिटिज केयर’ (मधुमेह से बचाव तक पहुंच) रखा गया है जहां सभी देशों से अनुरोध किया गया है कि वे मधुमेह में देखभाल के लिए आवश्यक इंसुलिन, टैबलेट और अन्य चीजों तक सबकी पहुंच सुनिश्चित करें।

इंडिया इंटरनेशनल सेंटर (आईआईसी) ‘डायलॉग्स इन हेल्थ एंड वेलनेस’ शीर्षक से आजकल मासिक मेडिकल कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है जिनमें सामान्य मेडिकल दृष्टिकोण से बीमारी के लक्षण, बचाव और प्रबंधन तथा हालात पर चर्चा की जाती है। इस सीरीज का विचार और इसका समन्वय पेशे से माइक्रोबायोलॉजिस्ट डॉक्टर अश्वनी कुमार कर रहे हैं।

मधुमेह की समस्या पर जोर देते हुए डॉटक्टर मधु ने कहा, ‘‘यह दुनिया भर में और हमारे देश में भी नियंत्रण से बाहर होता जा रहा है। दुनिया भर में मधुमेह के 50 करोड़ मरीज हैं और भारत में ही 8.5 करोड़ लोग मधुमेह के मरीज हैं। शहरी इलाकों, जैसे दिल्ली में मधुमेह की समस्या ज्यादा विकट और बड़ी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मधुमेह के 20 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों को कोई ना कोर्द दीर्घकालिक समस्या, जैसे… हृदय रोग, किडनी, आंख या नर्व से जुड़ी दिक्कतें जरूर हैं। इनका मरीजों, उनके रिश्तेदारों आर देश पर बहुत प्रभाव पड़ता है।’’

डॉक्टर मधु ने मधुमेह के सभी मरीजों को सलाह दी कि वे समय पर और जल्दी इन दिक्कतों की जांच कराएं, ताकि उनका जल्दी पता लग सके और उनसे होने वाली दिक्कतों से बचाव किया जा सके या फिर उन्हें टाला जा सके। उन्होंने कहा कि रक्त शर्करा (ब्लड शुगर), ब्लड प्रेशर (रक्तचाप) और कॉलेस्ट्रॉल पर सख्ती से नियंत्रण रखने से मधुमेह से जुड़ी जटितलाओं से लंबे समय तक बचा जा सकता है।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
हनुमान जी को खुश करने के लिए सुबह उठने और रात में सोने से पहले इस मंत्र का करें जापHanuman Ji, Hanuman Ji pray, Hanuman Ji worship, Hanuman Ji prayer, Hanuman Ji facts, Hanuman Ji worship method, worship method, worship method of hanuman, worship method of bajrangbali, Flowers, Flowers to hanuman, Religion news
अपडेट