अब इन गाड़ियों के लिए भी जरूरी हुआ Fastag, जान लें वर्ना पछताएंगे!

केंद्रीय मोटर वाहन (चार पहिया वाहनों) नियम, 1989 में संशोधन के माध्यम से, अब फास्टैग को 1 जनवरी, 2017 से पहले बेचे जाने वाले वाहनों में 1 जनवरी, 2021 तक उपलब्ध कराना अनिवार्य कर दिया गया है।

USED CARSपार्किंग एरिया में खड़ी पुरानी गाड़ियां। (File)

फास्टैग अब पुरानी गाड़ियों के लिए भी लागू कर दिया गया है। अगर किसी गाड़ी की सेल 1 दिसंबर 2017 से पहले हुई है तो उसके लिए फास्टैग अब जरूरी है। इसके लिए 1 जनवरी 2021 तक की डेडलाइन रखी गई है। यानी की इस डेडलाइन तक पुराने M और N कैटिगरी के वाहनों पर फास्टैग लगा होना चाहिए।

केंद्रीय मोटर वाहन (चार पहिया वाहनों) नियम, 1989 में संशोधन के माध्यम से, अब फास्टैग को 1 जनवरी, 2017 से पहले बेचे जाने वाले वाहनों में 1 जनवरी, 2021 तक उपलब्ध कराना अनिवार्य कर दिया गया है। वहीं मोटर व्हीक्ल के लिए थर्ट पार्टी इंश्योरेंस के लिए फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है। बिना फास्टैग इंश्योरेंस नहीं होगा। दो पहिया और तीन पहिया वाहनों को छोड़कर इंश्योरेंस रिन्यू करवाने के लिए फास्टैग अनिवार्य होगा।

परिवहन मंत्रालय ने इस संबंध में पहले ही संकेत दिए थे। इसके बिना थर्ड पार्टी इंश्योरेंस रिन्यू नहीं किया जाएगा। रोड ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री के मुताबिक ऐसे वाहन जिनमें चार पहिए है या इससे ज्यादा हैं उनपर ये नया नियम लागू होगा।

इंश्योरेंस लेते वक्त फास्टैग आईडी की जानकारी कैप्चर की जाएगी। सरकार के इस फैसले के बाद अब 1 जनवरी 2021 से पुराने और नए सभी चार पहिया वाहनों पर फास्टैग अनिवार्य हो चुका है।

बता दें कि टोल प्लाजा पर लगने वाले जाम को खत्म करके यातायात को सुगम और शुल्क संग्रह को आसान बनाने के लिए इस पर जोर दिया जा रहा है। टोल टैक्स वसूली को आसान बनाने और टोल प्लाजा पर लगने वाले लंबे जाम को देखते हुए सरकार ने फास्टैग टेक्नॉलजी के जरिए नई व्यवस्था को लागू किया है।

Next Stories
1 आपका कौन सा मोबाइल नंबर Aadhaar के साथ है लिंक? जानने का ये है आसान तरीका
2 फेस्टिव सीजन में बंपर बुकिंग के बीच 7 और 8 नवंबर को देशभर में 500 नई Thar की मेगा डिलिवरी, कंपनी कर रही ये प्लानिंग
3 Bajaj CT100: 50 हजार रुपये से कम की ये बाइक एक लीटर पेट्रोल पर देती है 90 किलो मीटर की माइलेज, जानें और क्या है खास
यह पढ़ा क्या?
X