scorecardresearch

Mumbai AC Local में अब कम किराए पर करिए सफर: 50% तक सस्ती हुई टिकट, 5Km के लिए देने होंगे 30 रुपए

Indian Railways IRCTC: शुक्रवार को भायखला स्टेशन के उद्घाटन के दौरान रेल राज्य मंत्री रावसाहेब दानवे ने कटौती की घोषणा की है। इस फैसले के बाद अब आपको 5Km के सफर पर केवल 30 रुपये ही देने होंगे।

Mumbai Local | AC Trains | Indian Railways| IRCTC
मुंबई लोकल एसी ट्रेन से 5 किमी के सफर में लगेगा 30 रुपये किराया (फोटो-iStock)

मुंबई लोकल ट्रेन से सफर करने वाले लोगों को बड़ी राहत मिली है। मुंबई में एयर कंडीशनर (एसी) लोकल ट्रेनों से सफर करने वाले रेल यात्रियों को एक बड़ी राहत देते हुए, सिंगल यात्रा पर किराए में 50 प्रतिशत की कटौती कर दी गई है। शुक्रवार को भायखला स्टेशन के उद्घाटन के दौरान रेल राज्य मंत्री रावसाहेब दानवे ने कटौती की घोषणा की है। इस फैसले के बाद अब आपको 5Km के सफर पर केवल 30 रुपये ही देने होंगे।

रेलवे बोर्ड की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, कम किया गए किराए नोटिफिकेशन के माध्‍यम से जल्‍द ही लागू की जाएगी। हालाकि मंथली पास पर कोई कमी नहीं की होगी। उदाहरण से समझें तो चर्चगेट से विहार के सफर के दौरान अब 210 रुपये की जगह सिर्फ 105 रुपये का ही किराया देना होगा और चर्चगेट से बांद्रा के बीच के सफर के दौरान 90 रुपये की जगह सिर्फ 45 रुपये किराया लागू होगा।

फर्स्‍ट क्‍लास की लोकल ट्रेनों का सिंगल-सफर किराया भी कम होने की संभावना है क्योंकि एसी लोकल किराए में कमी के बाद कीमतें फर्स्‍ट क्‍लास की तुलना में सस्ती हो गई हैं। मीडिया से बात करते हुए दानवे ने कहा कि मांग 20 से 30 फीसदी कम करने की थी, लेकिन ट्रेनों की बढ़ती मांग को देखते हुए उन्होंने इसे आधा कर दिया।

उन्‍होंने आगे कहा कि जनता से परामर्श और रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद, किराए में 50 प्रतिशत की कमी करने का निर्णय लिया गया है। एसी लोकल के सभी सिंगल सफर किराए को कम कर दिया जाएगा। जबकि मासिक पास का किराया कम करने की कोई योजना नहीं है। यात्रियों और रेलवे अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद कम किराए को लागू किया जाएगा।

वहीं यात्री संगठनों की ओर से इस फैलसे की तारीफ की गई है और मासिक पास में कमी की भी मांग की गई है। रेल यात्री परिषद के अध्यक्ष सुभाष गुप्ता ने कहा, एसी लोकल के लिए मासिक पास के किराए में कमी के साथ-साथ लोकल ट्रेनों की आवृत्ति भी बढ़नी चाहिए। जबकि दानवे ने कहा कि आवृत्ति बढ़ाई जा सकती है लेकिन ट्रेनों की संचालन लागत अधिक है। इसके लिए यात्रियों की संख्‍या में बढ़ोतरी देखनी होगी।

यात्रियों की संख्‍या को लेकर विशेषज्ञों का कहना है कि इस फैसले के बाद यात्रियों की संख्‍या में 35 फीसद का इजाफा हो सकता है। लेकिन इस प्रक्रिया के दौरान कुछ समय लग सकता है।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट