ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार के दो पेंशन प्‍लान आपके बुढ़ापे का सहारा! जानें अटल पेंशन और PMSYM में कौन बेहतर

अटल पेंशन योजना की तो इसकी शुरुआत 2015 में की गई थी। यह एक सामाजिक सुरक्षा योजना है। योजना 1000 रुपये से लेकर 5000 रुपये तक की पेंशन मुहैया कराने के लिए है। प्रधान मंत्री श्रम योगी मानधन योजना को बीते साल शुरू किया गया था।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

अक्सर नौकरीपेशा लोगों को रिटायरमेंट के बाद किस तरह जीवन का गुजर बसर होगा इसकी चिंता सताए रखती है। ये चिंता इस वजह से क्योंकि रिटायरमेंट के बाद आमदनी का कोई स्रोत नहीं होता। ऐसे में अगर उन्हें मंथली पेंशन मिल जाए तो इससे बेहतर कुछ नहीं। नौकरीपेशा पेंशन पाने के लिए अलग-अलग स्कीम, इंश्योरेंस पॉलिसी आदि में निवेश करते हैं।

केंद्र सरकार भी लोगों की इसी जरूरत का ख्याल रखते हुए पेंशन योजना चला रही है। मोदी सरकार की दो पेंशन योजना ‘अटल पेंशन स्कीम’ और ‘प्रधान मंत्री श्रम योगी मानधन योजना’ हैं। इनमें अपनी रोजाना की कुछ बचत का हिस्सा अगर आप निवेश करेंगे तो ये योजना आपके बुढ़ापे का सहारा बन सकती हैं। अब सवाल यह है कि दोनों योजना में कौन बेहतर है और क्या अंतर है। कितना प्रीमियम भरना पड़ता है।

सबसे पहले बात करें अटल पेंशन योजना की तो इसकी शुरुआत 2015 में की गई थी। यह एक सामाजिक सुरक्षा योजना है। योजना 1000 रुपये से लेकर 5000 रुपये तक की पेंशन मुहैया कराने के लिए है। योजना की ओवरड्राफ्ट सुविधा 10000 रुपये है। खातों का दुर्घटना बीमा 2 लाख है। योजना राष्ट्रीय पेंशन योजना के जरिए पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण द्वारा संचालित की जा रही है।

योजना फायदा उठाने के लिए आपकी उम्र 18 से 40 साल के बीच होनी चहिए। इस योजना की खासियत ये है कि इसमें आप जितना जल्दी जुड़ेंगे आपको उतना ही फायदा होगा। अगर कोई 18 साल की उम्र में इससे जुड़ता है तो उसे हर महीने 210 रुपये का निवेश करना होगा और इसके बदले में उसे प्रति माह पांच हजार रुपये की पेंशन मिलेगी।

वहीं बात करें प्रधान मंत्री श्रम योगी मानधन योजना की तो इसे बीते साल शुरू किया गया था। इसके तहत कोई भी असंगठित क्षेत्र का श्रमिक इसका लाभ उठा सकता है। बशर्ते उसका पीएफ या ईएसआई न कटता हो। रिक्शा चालक, घरेलू नौकर से लेकर मिस्त्री तक का काम करने वाले लोग इस स्कीम से आसानी से जुड़ सकते हैं। वे लोग जिनकी महीने की सैलरी 15 हजार रुपये से ज्यादा न हो उम्रे 18 से 40 के बीच हो वे इस योजना में निवेश कर सकते हैं।

18 साल की उम्र के शख्स को हर महीने 55 रुपये देने होंगे और इतनी ही रकम सरकार चुकाएगी। इसी तरह 19 साल की उम्र में जुड़ने पर आपको 58, 20 पर 61 और 29 साल की आयु पर 100 और 40 साल की उम्र पर 200 रुपये हर महीने देने होंगे। 60 वर्ष की उम्र होने के बाद प्रति माह 3,000 रुपये की न्यूनतम पेंशन मिल सकेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 PM Kisan Yojana में रजिस्ट्रेशन करवाया पर लगातार दो किस्त का पैसा नहीं आया? ये है समाधान
2 PNB खाताधारकों के ATM कार्ड फिलहाल बंद नहीं होंगे, मर्जर के बाद लग रही अटकलों को बैंक ने किया दूर
3 Aadhaar Kendra: कोरोना संकट के बीच 17,000 से Aadhaar केंद्र फिर से खुले, ऐसे लें अपाइंटमेंट
ये पढ़ा क्या?
X