ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार की इस योजना में 84 रुपए महीने जमा कर पा सकते हैं साल के 24 हजार, जानिए नियम और शर्तें

योजना की खास बात यह है कि इसकी शुरुआत असंगठित क्षेत्रों के लोगों को ध्यान में रखकर की गई है, जो अपनी छोटी सी पूंजी लगाकर ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (पीटीआई फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2015 में अटल पेंशन योजना (APY) की शुरुआत की। इस योजना के तहत भारत का हर नागरिक छोटा सा निवेश कर ज्यादा पैसे कमा सकता है। योजना की खास बात यह है कि इसकी शुरुआत असंगठित क्षेत्रों के लोगों को ध्यान में रखकर की गई है, जो अपनी छोटी सी पूंजी लगाकर ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं। हर वो शख्स जिसकी उम्र 18 से 40 साल के बीच है निजी तौर पर इस योजना निवेश कर सकता है। योजना के तहत हर शख्स निवेश के आधार पर हर महीना एक हजार से पांच हजार रुपए तक कमा सकता है।

APY के तहत योजना का लाभ उठाने वाले को तीन तरह की किश्तों में भुगतान करना होगा। मासिक, त्रैमासिक और अर्धवार्षिक। मतलब हर महीना 84 रुपए जमा करने पर 60 की उम्र के बाद 2,000 रुपए वापस दिए जाएंगे। इसी तरह 42 साल निवेश करने पर पेंशन साल में 24 हजार तक बढ़ा दी जाएगी। NSDL वेबसाइट के अनुसार योजना का लाभ उठाने के लिए उम्मीदवार को बैंक या पोस्ट ऑफिस में सेविंग अकाउंट खोलना होगा।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Ice Blue)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 15868 MRP ₹ 29499 -46%
    ₹2300 Cashback

ऐसे करें आवेदन-
APY फॉर्म ऑनलाइन के अलावा सभी बैंकों की वेबसाइटों पर उपलब्ध है। योजना का लाभ उठाने के लिए ग्राहक को फॉर्म ऑनलाइन डाउनलोड करना होगा। इसमें जरूरी जानकारी भरने के बाद फॉर्म नजदीकी बैंक में जमा करना होगा। साथ ही जरूरी कागज भी फॉर्म में संग्लन करने होंगे।

लेट किश्त देने पर देना होगा अतिरिक्त चार्ज-
योजना के मुताबिक किश्त तय सीमा के बाद जमा करने पर अतिरिक्त चार्ज देना होगा। यह एक रुपए महीना से 10 महीना तक हो सकता है। लगातार 12 महीने तक किश्त नहीं जमा करने पर अकाउंट डीएक्टिवेट हो जाएगा। 24 महीने तक ऐसा किया गया तो अकाउंट पूरी तरह बंद हो जाएगा।

इन प्रमाण-पत्रों की होगी जरुरत-
APY में आवेदन के लिए आधार की जरुरत सबसे अधिक होगी। योजना के संचालन की आसानी के लिए ग्राहकों को मोबाइल नंबर भी देना होगा।

चित्र में ऐसे समझे पूरी योजना-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App