ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार दे रही CNG और PNG डिस्ट्रीब्यूटर बनने का मौका, लाइसेंस देने के लिए नीलामी जल्द

धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के मुताबिक देश के 400 से अधिक जिलों को अब तक गैस वितरण नेटवर्क द्वारा कवर किया जा चुका है।

घर पर लगा पीएनजी कनेक्शन। Jaipal Singh/The Indian Express

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार कहा कि पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस नियामक बोर्ड (पीएनजीआरबी) सीएनजी और पीएनजी डिस्ट्रीब्यूटर लाइसेंस नीलामी के 11वें संस्करण का आयोजन करने जा रहा है। इस नीलामी के बाद 100 से ज्यादा जिलों को स्वच्छ ईंधन मिलेगा।

छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और विदर्भ के 50 से 100 जिलों तक शहरी गैस नेटवर्क की सुविधा होगी। धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के मुताबिक देश के 400 से अधिक जिलों को अब तक गैस वितरण नेटवर्क द्वारा कवर किया जा चुका है।

प्रधान में कहा ‘ऐसे में नए 100 क्षेत्रों में सीएनजी और पीएनजी डिस्ट्रीब्यूटर लाइसेंस नीलामी के बाद इनकी कुल संख्या 500 हो जाएगी।’ प्रधान 13 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश में 56 सीएनजी पंप शुरू करने के मौके पर बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि इस ऑनलाइन कार्यक्रम में उन्होंने कहा, ‘शहरों में गैस वितरण के लिए 11वें दौर की नीलामी प्रक्रिया बहुत जल्द पेश की जाएगी। पीएनजीआरबी इसकी तैयारी कर रही है।’

पिछले 6 वर्षों में, सीएनजी स्टेशनों की संख्या 947 से 2300 से अधिक हो गई है। मंत्री ने 56 सीएनजी स्टेशनों की कमीशनिंग को भी चिह्नित कर चुकी है। बोर्ड ने सीएनजी और पीएनजी के लिए 2018 और 2019 के दौरान 136 क्षेत्रों में वाहनों के लिए खुदरा कारोबार करने के लाइसेंस जारी किए थे।

सीएनजी और पीएनजी का इस विस्तार करने की योजना देश के सकल ऊर्जा बास्केट में 2030 तक नैचुरल गैस का हिस्सा बढ़ाकर 15 फीसदी करने की योजना का हिस्सा है। वर्तमान में देश में हो रही कुल ऊर्जा खपत में नैचुरल गैस का हिस्सा मात्र 6.3 फीसदी ही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Indian Railway, IRCTC: कितने दिन पहले तत्काल टिकट बुक किया जा सकता है? यहां जानें क्या है इसका फायदा
2 Ration Card बनाने से पहले जान लें ये रूल, वरना हो सकती है 5 साल की सजा!
3 PM Awas Yojana: पीएम मोदी ने यहां किया 1.75 लाख घरों का उद्घाटन, जानें कैसे कर सकते हैं आवेदन
ये पढ़ा क्या?
X