ताज़ा खबर
 

लॉकडाउन के बीच होने जा रहा इन बैंको का विलय, बदल जाएंगे नाम, जानें कौन-कौन हैं मर्जर में शामिल

Bank mergers on track: विलय के बाद तीन साल में सरकारी बैंक 27 से 12 हो जाएंगे। विलय को लेकर सरकार ने वजह बताई है कि इससे बैंकों के रिस्क लेने की क्षमता में इजाफा होगा।

बैंक में खड़े ग्राहक।

Bank mergers on track: खतरनाक कोरोना वायरस के चलते 14 अप्रैल तक देशव्यापी लॉकडाउन लागू है। लॉकडाउन के बीच देश के 10 बड़े बैंकों का विलय होने जा रहा है। एक अप्रैल से इन बैंकों के नाम भी बदलने जा रहे हैं। लॉकडाउन के दौरान बैंकों के विलय के बाद बनी इकाई में कामकाज सरकार के लिए बड़ा चैलेंज होगा। बता दें कि कैनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक मिलकर एक हो जाएंगे, इसके अलावा इलाहाबाद बैंक का विलय इंडियन बैंक में हो रहा है।

पीएनबी में ओबीसी और यूबीआई के विलय से बनने वाला बैंक एसबीआई के बाद देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक होगा। वहीं यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक का विलय होना है। बताया जा रहा है कि विलय से जुड़ी जरूरी कानूनी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। बैंकों के विलय से ग्राहकों पर भी असर पड़ेगा।

कुछ बैंकों की ब्रांच बंद हो सकती है, वहीं ग्राहकों की कस्टमर आईडी अगर विलय में शामिल दो बैंकों में एक साथ है तो एक आईडी बंद हो सकती है। ग्राहकों को नए चेकबुक के लिए तैयार रहना चाहिए इसके साथ ही ग्राहकों को अन्य कामों के लिए थोड़ा पेपरवर्क भी करना पड़ सकता है।

बता दें कि इस विलय के बाद तीन साल में सरकारी बैंक 27 से 12 हो जाएंगे। विलय को लेकर सरकार ने वजह बताई है कि इससे बैंकों के रिस्क लेने की क्षमता में इजाफा होगा। इसके साथ ही एनपीए कंट्रोल करने में भी मदद मिलेगी। मालूम हो कि बैंकों का बढ़ता एनपीए केंद्र सरकार के लिए चिंता का विषय है। एनपीए को कम करने के लिए केंद्र लगातार प्रयास कर रही है।

बैंकों के विलय से बैंककर्मी नाखुश हैं। बैंककर्मियों का मानना है कि यह विलय नहीं किया जाना चाहिए। ऑल इंडिया बैंक एंप्लाइज एसोसिएशन और ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन ने 27 मार्च से हड़ताल का आह्वान किया था लेकिन लॉकडाउन के चलते ऐसा नहीं हो सका।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 LIC मनी बैक प्लान में रोजाना 79 रुपये का निवेश कर पाएं 11 लाख रुपये, डेथ बेनिफट के साथ और भी कई फायदे
2 कोरोना संकट के बीच बड़ी राहत, थर्ड पार्टी मोटर इंश्योरेंस नहीं होगा मंहगा! IRDA ने बढ़ाई डेट
3 TATA Sky के ग्राहकों को फ्री में मिल रही ये सर्विस, लॉकडाउन के बीच उठाएं फायदा