सुरक्षा की वजह से मास्‍टरकार्ड ने लिया बड़ा फैसला! डेबिट व क्रेडिट कार्ड से हट जाएगी यह चीज

चिप कार्ड का उपयोग उपयोगकर्ता द्वारा केवल रीडर के अंदर कार्ड को स्लॉट करना होता है या इसे केवल भुगतान मशीन पर रखना होता है, जिससे पूरी प्रक्रिया आसान हो जाती है। चिप कार्ड व्यवसायों के लिए कार्ड के माध्यम से भुगतान स्वीकार करना आसान बनाता है।

सुरक्षा की वजह से मास्‍टरकार्ड ने लिया बड़ा फैसला! डेबिट व क्रेडिट कार्ड से हट जाएगी यह चीज (File Photo)

अमेरिकी वैश्विक भुगतान और प्रौद्योगिकी कंपनी, मास्टरकार्ड ने सुरक्षा कारणों से बड़ा बदलाव करने जा रही है। कंपनी अपने सभी डेबिट और क्रेडिट कार्ड से चुंबकीय पट्टी को समाप्त करने की तैयारी कर रही है। कंपनी का कहना है कि अब यह सुरक्षा के लिहाज से पुराना सिस्‍टम हो गया है। हालाकि मैगनेटिक सिस्‍टम दशकों से अरबों लोगों द्वारा उपयोग किया जाता रहा है और डेबिट और क्रेडिट कार्ड संबंधी सुरक्षा देता है। माना जा रहा है कि मास्‍टरकार्ड ने प्रौद्योगिकी के विकास ने उपयोगकर्ताओं को सुरक्षित चिप-आधारित कार्ड की ओर ले गया है।

चिप कार्ड का उपयोग उपयोगकर्ता द्वारा केवल रीडर के अंदर कार्ड को स्लॉट करना होता है या इसे केवल भुगतान मशीन पर रखना होता है, जिससे पूरी प्रक्रिया आसान हो जाती है। चिप कार्ड व्यवसायों के लिए कार्ड के माध्यम से भुगतान स्वीकार करना आसान बनाते हुए अधिक सुरक्षा और जल्‍द आदान प्रदान कराता है। चिप कार्ड माइक्रोप्रोसेसरों द्वारा संचालित होते हैं और इसलिए अधिक सुरक्षित माने जाते हैं। उनमें से कई संपर्क रहित लेनदेन को सक्षम करने के लिए छोटे एंटीना के साथ जुड़े होते हैं।

मास्टरकार्ड ने एक बयान में कहा है कि, “चिप-आधारित भुगतानों के बाद मैग्‍नेटिक पट्टियों होने वाले भुगतान में गिरावट के कारण नए मास्टरकार्ड क्रेडिट और डेबिट कार्ड को 2024 में शुरू करने की आवश्यकता नहीं होगी।” ऐसे में कंपनी का लक्ष्य 2033 तक सभी क्रेडिट और डेबिट कार्ड से चुंबकीय पट्टियों को हटाना है। इसने कहा कि दशक भर की अवधि उसके भागीदारों को चिप कार्ड को सुचारू बनाने के लिए पर्याप्त समय देगी।

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकारी कर्मचारी सतर्क! एकमुश्त मुआवजा भुगतान के नियम बदले, आप भी जानें
मास्टरकार्ड ने कहा कि यूरोप पहला ऐसा क्षेत्र होगा जहां से उसके चुंबकीय पट्टी वाले कार्ड गायब हो जाएंगे। 2027 के बाद से, अमेरिका में बैंकों को ऐसे कार्ड जारी नहीं करने होंगे। 2029 तक, चुंबकीय पट्टियों के साथ कोई नया मास्टरकार्ड क्रेडिट और डेबिट कार्ड जारी नहीं होगा।

यह भी पढ़ें: Amazon पर Apple, Samsung के इन गैजेट्स पर मिल रही अच्‍छी छूट, जानिए कीमत
कंपनी ने अपने बयान में कहा कि महामारी के दौरान डिजिटल परिवर्तन में तेजी आई है, पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 1 बिलियन अधिक संपर्क रहित लेनदेन मास्‍टर कार्ड से हुआ है। 2021 की दूसरी तिमाही के दौरान मास्टरकार्ड के 45 प्रतिशत इन-पर्सन चेकआउट कॉन्टैक्टलेस थे।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट