मध्य प्रदेश के अनूपपुर में ईंधन के दामों ने तोड़ा रिकॉर्ड, पेट्रोल 120 तो डीजल 110 रुपए प्रति लीटर

ईंधन जिला मुख्यालय से लगभग 250 किलोमीटर दूर जबलपुर तेल डिपो से अनूपपुर लाया जाता है, इसलिए उच्च परिवहन लागत के कारण राज्य के अन्य हिस्सों की तुलना में यहां ईंधन महंगा है।

Petrol diesel
छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा से लगे बालाघाट जिले में पेट्रोल की कीमत 119.23 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गई। (एक्सप्रेस फोटो)।

मध्य प्रदेश के अनूपपुर में पेट्रोल और डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं। यहां बुधवार को पेट्रोल की कीमत 120 रुपए प्रति लीटर और डीजल 110 रुपए प्रति लीटर पहुंच गई। इसी तरह छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा से लगे बालाघाट जिले में पेट्रोल की कीमत 119.23 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गई।

छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे अनूपपुर के बिजुरी कस्बे में पेट्रोल पंप के मालिक अभिषेक जायसवाल ने बताया कि मंगलवार को 36 पैसे की वृद्धि के बाद पेट्रोल कीमत 120.4 रुपए प्रति लीटर हो गई है और डीजल की कीमत 37 पैसे की वृद्धि के बाद 109.17 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गई है।

जायसवाल ने कहा कि ईंधन जिला मुख्यालय से लगभग 250 किलोमीटर दूर जबलपुर तेल डिपो से अनूपपुर लाया जाता है, इसलिए उच्च परिवहन लागत के कारण राज्य के अन्य हिस्सों की तुलना में यहां ईंधन महंगा है।

बालाघाट में लालबर्रा रोड पर एक पेट्रोल पंप के मालिक रवि वैद्य ने बताया कि बालाघाट में पेट्रोल और डीजल की कीमत 37 पैसे की बढ़ोतरी के बाद 119.23 रुपए और 108.20 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गई है।

इस बीच, मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक पेट्रोल पंप के मालिक ने कहा कि मंगलवार को पेट्रोल की कीमत 36 पैसे की वृद्धि के बाद 116.62 रुपए प्रति लीटर और डीजल में 37 पैसे के वृद्धि के बाद 106.01 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गई है।

पेट्रोल पंप मालिकों के अनुसार सीमावर्ती जिलों में ईंधन का कारोबार बुरी तरह प्रभावित हो रहा है, क्योंकि ज्यादातर वाहन मालिक महाराष्ट्र या छत्तीसगढ़ से ईंधन भरना पसंद करते हैं क्योंकि वहां पेट्रोल और डीजल सस्ता है।

बता दें कि पेट्रोल इतना महंगा हो चुका है कि इसकी जरा सी फिजूलखर्ची भी काफी परेशानी कर सकती है। कई लोग अपनी छोटी-छोटी गलती या अनदेखी की वजह से ज्यादा पेट्रोल फूंक देते हैं जबकि पेट्रोल बचाया जा सकता है। ये रहे वो तरीके, जिन्हें आजमाकर आप पेट्रोल की बचत कर सकते हैं।

  1. अपने वाहन की समय पर सर्विस जरूर करवाएं। ऐसा करने से आपका इंजन फ्रेश रहेगा और उसपर ज्यादा लोड नहीं रहेगा। सर्विस समय पर करवाने पर पेट्रोल की खपत कम हो जाती है।
  2. वाहन के टायरों में हवा का दबाव सही होना चाहिए, यह जरूरत से ज्यादा और जरूरत से कम भी नहीं होना चाहिए।
  3. ट्रैफिक पर जितना संभव हो अपना वाहन का इंजन बंद कर लें। ऐसा करने पर भी आप फ्यूल बचा सकते हैं।
  4. कार में एसी चलाने से बचें। अगर जरूरत हो तभी एसी ऑन करें।
  5. फ्यूल की बचत करने में ड्राइविंग टेक्नीक और स्पीड की भी अहम भूमिका होती है।
  6. सिर्फ गियर बदलने या गाड़ी रोकने के लिए क्लच बदलें। इससे फ्यूल कंजम्पशन में कमी आएगी।
  7. कार में किसी भी तरह की फालतू चीज न रखें। यानी की जितना संभव हो कार को हल्का रखें।

पढें यूटिलिटी न्यूज समाचार (Utility News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
MP: धर्मगुरु का आरोप- धर्मांतरण विरोधी कानून का इस्‍तेमाल करके ईसाइयों पर फर्जी केस थोप रही शिवराज सरकारArchbishop, Archbishop bhopal, conversion in mp, conversion of hindus, shivraj government, shivraj singh chauhan, latest news in hindi
अपडेट