ताज़ा खबर
 

1 नवंबर से इसके बिना नहीं मिलेगा LPG सिलिंडर! जानें लें वर्ना पछताना पड़ेगा

वे ग्राहक जिनका पता और मोबाइल नंबर गलत पाया जाता है तो उनके सिलिंडर की डिलीवरी को रोका जा सकता है। सिलिंडर सही ग्राहक तक पहुंचे इसके लिए ओटीपी आधारित डिलीवरी सिस्टम को अपनाया जा रहा है।

lpg subsidyLPG सिलिंडर की डिलीवरी करता कर्मचारी।

देश की तमाम तेल कंपनियां आगामी 1 नवंबर से एलपीजी सिलिंडर का नया डिलीवरी सिस्टम लागू कर रही हैं। तेल कंपनियों ने तय किया है कि अब बिना ओटीपी दिए ग्राहकों को सिलिंडर डिलीवर नहीं किया जाएगा। तेल कंपनियों ने गैस सिलिंडर से गैस चोरी होने और ब्लैक मार्केटिंग रोकने के लिए यह फैसला लिया है। सिलिंडर सही ग्राहक तक पहुंचे इसके लिए ओटीपी आधारित डिलीवरी सिस्टम को अपनाया जा रहा है।

अब ये है सिलिंडर लेने का नया तरीका: ग्राहक पहले की तरह ही सिलिंडर ऑर्डर कर सकते हैं लेकिन अब गैस एजेंसी के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा। इसके लिए तेल कंपनियों ने रियल टाइम कोड के लिए एक ऐप डेवलप किया गया है।

ये कोड डिलीवरी ब्वॉय को देना होगा। जैसे ही ग्राहक इस कोड को डिलीवरी ब्वॉय को देगा वह एप में इसकी इंट्री करेगा। इसके बाद सिलिंडर डिलीवरी के लिए अप्रूव हो जाएगा। अगर कोई ग्राहक ओटीपी बताने में असमर्थ होगा तो उसे सिलिंडर डिलीवर नहीं किया जाएगा।

वहीं अगर आपने गैस एजेंसी के साथ जो नंबर रजिस्टर्ड करवाया था वह अब आपके पास नहीं है तो इस बारे में भी चिंतित होने की जरूरत नहीं क्योंकि डिलीवरी ब्वॉय एप में आपका नया मोबाइल नंबर दर्ज कर रजिस्टर्ड कर सकेगा।

इसके बाद आप मौके पर भी ओटीपी जनरेट करवा सकेंगे। वहीं इसके बावजूद वे ग्राहक जिनका पता और मोबाइल नंबर गलत पाया जाता है तो उनके सिलिंडर की डिलीवरी को रोका जा सकता है। बता दें कि ये नया नियम पहले चरण में सिर्फ बड़े शहरों में ही लागू होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Indian Railways, IRCTC: ट्रेनों में ये बदलाव करने जा रहा रेलवे, स्लीपर क्लास कोच बंद नहीं होंगे
2 7th Pay Commission: इन सरकारी कर्मचारियों को मिला दिवाली गिफ्ट, मिल रहा भरपूर फायदा
3 LIC जीवन आनंद पॉलिसी: रोजाना 134 रुपये का निवेश कर पाएं 73 लाख रुपये, जानें क्या है ये पूरी पॉलिसी
यह पढ़ा क्या?
X