scorecardresearch

LIC ने लॉन्‍च की नई मनी बैक बीमा रत्‍न पॉलिसी, गारंटीड बोनस व लिमिटेड प्रीमियम के साथ मिलेगा बहुत कुछ लाभ

बीमा रत्‍न पॉलिसी एक गैर-लिंक्‍ड, नॉन पॉर्टिसिपेंट, पर्सनल सेविंग और लाइफ इंश्‍योरेंस पॉलिसी कैटेगरी के साथ आता है। यह पॉलिसी सुरक्षा और बचत दोनों का लाभ देती है।

LIC BIMA RATNA | LIC News| LIC NEW POLICY PLAN
LIC ने लॉन्‍च की नई पॉलिसी प्‍लान, जानें डिटेल्‍स (फोटो- रॉयटर्स)

भारत की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी ने 27 मई को नई मंनी बैक बीमा पॉलिसी लॉन्‍च की है। बाजार में लिस्‍ट होने के बाद बीमा कंपनी की यह पहली लॉन्‍च की गई पॉलिसी है। बीमा रत्‍न पॉलिसी एक गैर-लिंक्‍ड, नॉन पॉर्टिसिपेंट, पर्सनल सेविंग और लाइफ इंश्‍योरेंस पॉलिसी कैटेगरी के साथ आता है। यह पॉलिसी सुरक्षा और बचत दोनों का लाभ देती है। कंपनी ने इस पॉलिसी को बाजार की जरूरत को ध्‍यान में रखते हुए पेश किया है।

बीमा रत्न योजना पॉलिसी की खास बात यह है कि पॉलिसी अवधि के दौरान पॉलिसीधारक की मृत्‍यु हो जाने पर पॉलिसीहोल्‍डर के परिवार को व‍ित्तीय सहायता दी जाती है। साथ ही लोगों की वित्तीय सहायता को पूरा करने के लिए निश्चित समय पर रुपयों का भुगतान भी करती है। इसके अलावा इस पॉलिसी में लोन लेने की सुविधा भी उपलब्‍ध है। आइए जानते हैं इस पॉलिसी से जुड़ी सभी बातें और आपको इसमें लाभ क्‍या क्‍या मिल सकता है?

एलआईसी के इस प्रोडक्ट को कॉर्पोरेट एजेंट्स, बीमा मार्केटिंग फर्मों (आईएमएफ), एजेंट्स, सीपीएससी-एसपीवी और पीओएसपी-एलआई के माध्यम से खरीदा जा सकता है।

डेथ बेनेफिट: इस पॉलिसी के लेने के बाद से लोगों को डेथ बेनेफिट दिया जाता है। बीमा कंपनी डेथ बेनेफिट के साथ-साथ गारंटीड जमा राशि का भी भुगतान करती है। एलआईसी के अनुसार, डेथ पर बीमा राशि, मूल बीमा राशि के 125 प्रतिशत या वार्षिक प्रीमियम के सात गुना से अधिक है। डेथ का भुगतान मृत्यु की तारीख तक भुगतान किए गए प्रीमियम के 105 प्रतिशत से कम नहीं होगा।

Survival लाभ: यदि योजना की अवधि 15 वर्ष है, तो एलआईसी प्रत्येक 13वें और 14वें पॉलिसी वर्ष के अंत में मूल बीमा राशि का 25% भुगतान करेगी। एलआईसी 20 वर्षीय टर्म प्लान के लिए 18वें और 19वें पॉलिसी वर्षों में मूल बीमा राशि का 25% भुगतान करेगा। यदि पॉलिसी 25 वर्ष की अवधि के लिए है, तो एलआईसी 23वें और 24वें पॉलिसी वर्षों में 25% का भुगतान करेगी।

मैच्‍योरिटी लाभ: अगर कोई बीमित व्यक्ति मैच्योरिटी की तय डेट तक जीवित रहते हैं तो “मैच्योरिटी पर बीमा राशि” के साथ-साथ अर्जित गारंटीड एडिशन का भी भुगतान होगा। इस पॉलिसी के तहत, पहले साल से लेकर 5 साल तक प्रति 1,000 रुपये पर 50 रुपये का गारंटीड बोनस दिया जाएगा। जबकि 6वें से 10वें पॉलिसी वर्ष तक, एलआईसी 55 रुपये बोनस और इसके बाद मैच्योरिटी की अवधि तक 60 रुपये प्रति हजार सालाना बोनस देगा। हालाकि मैच्‍योरिटी पूरा होने पर बोनस लाभ नहीं मिलेगा।

एलिजिबिलिटी और अन्य शर्तें:

  • एलआईसी न्यूनतम मूल बीमा राशि 5 लाख रुपये प्रदान करती है। अधिकतम मूल बीमित राशि की सीमा नहीं है। हालांकि यह 25,000 रुपये के गुणकों में होना चाहिए।
  • 15 साल, 20 साल और 25 साल पॉलिसी अवधि है। यदि पॉलिसी POSP-LI/CPSC-SPV के माध्यम से खरीदी जाती है, तो पॉलिसी की अवधि 15 या 20 वर्ष होगी।
  • बीमा रत्न के तहत, 15 साल की पॉलिसी अवधि के लिए आपको 11 वर्ष तक प्रीमियम भुगतान करना होगा। जबकि 20 साल और 25 साल के लिए प्रीमियम भुगतान अवधि 16 साल और 21 साल है। बीमा रत्न पॉलिसी की न्यूनतम उम्र 90 दिन और अधिकतम उम्र 55 साल है।
  • पॉलिसी की मैच्योरिटी के लिए न्यूनतम आयु 20 वर्ष है। जबकि पॉलिसी अवधि 25 वर्ष के लिए मैच्योरिटी आयु ₹25 वर्ष है। परिपक्वता के लिए अधिकतम आयु 70 वर्ष है।
  • इस पॉलिसी के तहत मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक और वार्षिक किश्तें भुगतान की जा सकती हैं1
  • इसमें न्यूनतम मासिक किस्त 5,000 रुपये है, जिसमें 15,000 रुपये की तिमाही किस्त, 25,000 रुपये की अर्ध-वार्षिक किस्त और 50,000 रुपये की वार्षिक किस्तें हैं।

पढें यूटिलिटी न्यूज (Utility News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X